झांसी में सपा की विजय रथ यात्रा: झांसे में न आए जनता विरोधी पार्टियों पर बरसे अखिलेश, कांग्रेस की कर दी भविष्यवाणी!

December 3rd, 2021

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव लगातार ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं और बीजेपी, कांग्रेस व बसपा पर जमकर हमला बोल रहे हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को बुंदेलखंड के झांसी में अखिलेश ने समाजवादी विजय रथयात्रा निकाली और बीजेपी को घेरा। इस दौरान अखिलेश यादव इसी मैदान से भविष्यवाणी भी कर दी। अखिलेश ने दावा किया कि कांग्रेस की जो हालत है, जनता उनको नकार देगी। यूपी में कांग्रेस को शून्य सीटें मिलेंगी। अखिलेश के इस बयान ने सियासत में गरमी बढ़ा दी है।

जब कांग्रेस से हाथ मिलाये थे अखिलेश 

आपको बता दें कि अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी ने 2017 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था। यूपी को ये साथ पसंद है का नारा दिया गया था तथा अखिलेश और राहुल गांधी को यूपी के लड़के भी बताया गया था। हालांकि इसका फायदा न तो सपा को हुआ और न ही कांग्रेस हुआ था। अखिलेश यादव अबकी बार छोटे-छोटे दलों के साथ मिलकर मैदान में उतरने का फैसला किया है।  आपको बता दें कि अबकी बार अखिलेश सुभासपा पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर, अपना दल कृष्णा पटेल गुट, रालोद से  जयंत चौधरी समेत कई दलों से गठबंधन कर चुके हैं। 

कांग्रेस को जनता ने नकार दिया

आपको बता दें कि झांसी में मीडिया से बात करते हुए एक सवाल के जवाब में अखिलेश यादव ने कहा कि मुझे कांग्रेस पार्टी का रोल नहीं पता है। जनता के बीच उनका जनाधार नहीं है, उनकी गिनती शून्य हो जाएगी। अखिलेश ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि अगर समाजवादी पार्टी 22 महीने में एक्सप्रेस-वे बना सकती है तो बीजेपी को उसी काम को करने में 4.5 क्यों लगे? ऐसा इसलिए क्योंकि वे यूपी में लोगों के कल्याण के लिए काम नहीं करना चाहते हैं।

सरकार ने अपना वादा नहीं पूरा किया

बता दें कि अखिलेश ने आगे कहा कि बुंदेलखंड से बीजेपी के लिए दरवाजे बंद होंगे। लोग उनके झूठे वादों को स्वीकार नहीं करेंगे और भाजपा को सत्ता में नहीं आने देंगे। उन्होंने कहा कि महंगाई, बेरोजगारी और किसानों की कम आय ऐसे मुद्दे हैं जो आगामी चुनावों में भाजपा के भाग्य फैसला करेंगे। अखिलेश ने योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि सरकार अगर अपना वादा पूरा किया होता तो लॉकडाउन में जनता और नौजवानों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता। ये तो कह रहे थे कि लैपटॉप, मोबाइल देंगे। लेकिन क्यों देंगे? हमारे बाबा मुख्यमंत्री तो लैपटाप चलाना ही नहीं जानते, अगर जानते तो उसकी अहमियत को समझते।

यूपी में कानून नाम की चीज नहीं

अखिलेश यादव ने योगी सरकार को यूपी में कानून व्यवस्था को लेकर घेरा तथा कहा कि आंकड़े बता रहे हैं कि यूपी में महिलाओं और बेटियों पर सबसे ज्यादा अन्याय हुए हैं। अखिलेश ये भी कहा कि अगर फर्जी एनकाउंटर में सबसे ज्यादा नोटिस मिले हैं तो वो है योगी सरकार।