नया छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश बघेल ने कहा विकास के छत्तीसगढ़ मॉडल ने गुजरात मॉडल को पीछे छोड़ा

December 15th, 2021

हाईलाइट

  • छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया

डिजिटल डेस्क, रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में रन फॉर सीजी प्राइड को लेकर लोगों में अभूतपूर्व उत्साह देखने को मिला। इस दौड़ में 20 हजार से ज्यादा लोग एक साथ शामिल हुए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि विकास के छत्तीसगढ़ मॉडल ने गुजरात मॉडल को पीछे छोड़ दिया है।

मुख्यमंत्री बघेल ने रन फॉर सीजी प्राइड को हरी झंडी दिखाकर शुरूआत की। इस मौके हर तरफ से भारत माता की जय, छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया का उद्घोष सुनाई दे रहा था। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि हमने जो नया छत्तीसगढ़ गढ़ने का संकल्प लिया था, उसे हम पूरा करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। तीन सालों में ही छत्तीसगढ़ राज्य ने देश-दुनिया में अपनी विशिष्ट पहचान कायम की है। छत्तीसगढ़ मॉडल की चर्चा आज पूरे देश में है। हमने विकास के छत्तीसगढ़ मॉडल से गुजरात मॉडल को काफी पीछे छोड़ दिया है।

उन्होंने आगे कहा कि छत्तीसगढ़ मॉडल समता और आर्थिक समानता लाने वाला मॉडल है। समाज के गरीब, किसान, आदिवासी, महिला, युवा एवं सभी वर्ग और समुदाय के लोगों की बेहतरी के लिए काम किया जा रहा है। इसमें सभी समाज एवं वर्ग के लोग शामिल हैं। कोरोना संकट काल के दौरान भी छत्तीसगढ़ में विकास के काम अनवरत रूप से जारी रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छता के मामले में छत्तीसगढ़ ने पूरे देश में अपनी एक अलग पहचान कायम की है। छत्तीसगढ़ राज्य को बीते तीन सालों से देश में स्वच्छतम राज्य का पुरस्कार मिल रहा है। इस साल छत्तीसगढ़ ने स्वच्छता के क्षेत्र में 67 पुरस्कार हासिल किए हैं। इसके साथ ही राज्य की योजनाओं को राष्ट्रीय स्तर पर सराहा जा रहा है।

राज्य के जनसम्पर्क विभाग और खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा आयोजित पांच किलोमीटर की यह दौड़ तीन वर्गों में हुई। प्रथम वर्ग में 14 वर्ष से कम उम्र के बालक एवं बालिकाओं ने, दूसरे वर्ग में 14 वर्ष से 60 वर्ष तक की उम्र के महिला एवं पुरूषों ने तथा तृतीय वर्ग में 60 वर्ष से अधिक के उम्र के धावकों ने हिस्सा लिया। प्रथम वर्ग में बालक-बालिका श्रेणी में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले धावकों को पुरस्कृत एवं सम्मानित किया जाएगा। रन फॉर सीजी प्राइड के दौरान प्रतिभागियों उत्साह से भरे थे। दौड़ के लिए निर्धारित रूट पर जगह-जगह सेल्फी जोन बनाए गए थे, जहां लोग सेल्फी लेते हुए दिखे। निर्धारित मार्ग के किनारे बड़ी संख्या में खड़े लोग तालियां बजाकर धावकों का उत्साहवर्धन करते दिखे।

 

(आईएएनएस)