शिवराज : मप्र में जनजातीय कलाकारों को सम्मानित करेगी सरकार

November 16th, 2021

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश के प्रतिभाशाली जनजातीय कलाकारों को ढूंढकर पद्मश्री जैसे प्रतिष्ठित पुरस्कार दिए हैं। राज्य में भी इस वर्ग के कलाकारों को प्रोत्साहित किया जाएगा और उन्हें सम्मानित किया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी की यात्रा में जनजातीय गौरव दिवस पर लोक नृत्यों की शानदार प्रस्तुति देने वाले कलाकारों को अपने आवास पर स्वल्पाहार के लिए आमंत्रित किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री चौहान ने कहा, मनुष्य के अस्तित्व और सृष्टि के सृजन के समय से ही गाना, बजाना और नाच, जीवन का हिस्सा रहा है। ये कलाएं जीना भी सिखाती हैं। अपने जीने और दूसरों के अस्तित्व को सार्थक बनाती हैं। मध्यप्रदेश के जनजातीय कलाकारों को मध्यप्रदेश सरकार पूरा संरक्षण और प्रोत्साहन देगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा, प्रधानमंत्री मोदी ने देश के प्रतिभाशाली जनजातीय कलाकारों को ढूंढ-ढूंढ कर तलाश किया और उन्हें पद्मश्री जैसे प्रतिष्ठित पुरस्कार दिए हैं। लोक-नृत्य से जुड़े कलाकार वास्तव में प्रतिभाशाली हैं। लोक-नृत्य आनंद का प्रकटीकरण करने का सशक्त माध्यम है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के आगामी स्थापना दिवस पर जनजातीय वर्ग के उत्कृष्ट कलाकार को विशेष सम्मान से अलंकृत किया जाएगा। भोपाल के जनजातीय गौरव दिवस कार्यक्रम में जनजातीय वर्ग की व्यापक भागीदारी हुई है। यह कार्यक्रम जनजातीय लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव के उद्देश्य से महत्वपूर्ण अवसर था।

मुख्यमंत्री चौहान के साथ मंच पर जनजातीय वर्ग के प्रमुख कलाकार मौजूद रहे। साथ ही जनजातीय गौरव दिवस के कार्यक्रम में लोक-नृत्य प्रस्तुतियों की कोरियोग्राफर कविता नायर और उनके ग्रुप के सदस्यों को भी सम्मानित किया। प्रख्यात गोंड चित्रकार पद्मश्री भज्जू सिंह श्याम ने कहा कि पहली बार किसी मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री ने जनजातीय कलाकारों को इतना सम्मान और अपनापन दिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने कलाकारों की पीठ थपथपायी है। भोपाल में हुआ यह कार्यक्रम हमारे जीवन का ऐतिहासिक पल बन गया है।

(आईएएनएस)