comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

किसान आंदोलन : बाधित मार्गों की सूचना के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रही दिल्ली पुलिस

December 04th, 2020 17:01 IST
 किसान आंदोलन : बाधित मार्गों की सूचना के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रही दिल्ली पुलिस

हाईलाइट

  • किसान आंदोलन : बाधित मार्गों की सूचना के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रही दिल्ली पुलिस

नई दिल्ली, 4 दिसम्बर (आईएएनएस)। केंद्र की ओर से हाल ही में बनाए गए नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान हरियाणा और उत्तर प्रदेश से लगती दिल्ली की कई सीमाओं पर पिछले एक सप्ताह से अधिक समय से डेरा डाले हुए हैं। तभी से दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ट्विटर हैंडल के माध्यम से यात्रियों की सुविधा के लिए रोड ब्लॉक्स और रूट डायवर्जन पर नियमित अपडेट पोस्ट कर रही है।

दिलचस्प बात यह है कि इस अपडेट में वैकल्पिक मार्गो का भी सुझाव दिया जा रहा है, ताकि लोग ट्रैफिक के झटकों में न फंसें।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस का ट्विटर हैंडल सुबह 6:30 बजे से शुरू होकर पूरे दिन व्यस्त रहता है, जो दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर जैसे सिंघू बॉर्डर, लामपुर, औचंदी, सफियाबाद, प्याऊ मनियारी और सबोली के रास्तों के बारे में पूरी जानकारी देता है। इसके अलावा दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा की ओर एनएच-44, गाजीपुर और चिल्ला सीमा पर रोड अवरुद्ध के संबंध में जानकारी प्रदान की जाती है। यहां तक कि दिल्ली की ओर गाजियाबाद मार्ग को लेकर भी लगातार अपडेट दी जा रहा है।

दैनिक यात्रा करने वाली अमिता शर्मा ने कहा, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के ट्विटर हैंडल की ओर से की जाने वाली अपडेट से मुझे मेरा समय और ऊर्जा बचाने में मदद मिलती है। दफ्तर के लिए घर से बाहर निकलने से पहले मैं अपडेट की जांच कर लेती हूं।

अन्य यात्रियों के लिए भी नोएडा और दिल्ली को जोड़ने वाले डीएनडी और कालिंदी कुंज मार्ग पर अपडेट काफी उपयोगी रहे हैं। ट्रैफिक पुलिस ने कालिंदी कुंज रोड पर अपडेट के लिए इंस्पेक्टर अश्वनी खोसला, टीआई सरिता विहार का मोबाइल नंबर भी डाल दिया है।

इंस्पेक्टर अश्वनी खोसला ने आईएएनएस को बताया, मेरे पास लगातार कॉल आ रहे हैं, जहां से यात्री मुझसे पूछते हैं कि कालिंदी कुंज रोड खुली है या नहीं। कभी-कभी तो मुझे देर से देर रात दो बजे और सुबह चार बजे तक भी कॉल आते हैं। अब मुझे इसकी आदत हो गई है कि बस हेलो कहने के बाद मैं कालिंदी कुंज के रास्ते के बारे में अपडेट करना शुरू कर देता हूं।

सिर्फ ट्रैफिक पुलिस ही नहीं, स्थानीय पुलिस भी बॉर्डर पर जमीनी स्थिति के बारे में सोशल मीडिया पर अपडेट देने में पीछे नहीं है। पूर्वी दिल्ली में गाजीपुर के एसएचओ प्रेम सिंह नेगी ने भी किसानों के आंदोलन पर नियमित अपडेट पोस्ट करने का फैसला किया है। यहां पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान बड़ी संख्या में एकत्रित हुए हैं और विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

नेगी न केवल कानून और व्यवस्था बनाए रखे हैं, बल्कि यह भी सुनिश्चित कर रहे हैं कि आम जनता को फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से जागरूक किया जाए, ताकि अवरुद्ध सड़कों पर होने वाले विरोध के बारे में उन्हें पहले ही पता चल सके और उनके समय और ऊर्जा की बचत हो।

इसके अलावा पूर्वी दिल्ली में मंडावली के एसएचओ इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार एक और ऐसे अधिकारी हैं, जो पूर्वी दिल्ली सीमा से आंदोलन की तस्वीरें पोस्ट कर रहे हैं।

पुलिस की ओर से सोशल मीडिया के उपयोग ने निश्चित रूप से यात्रियों को सुविधा प्रदान की है।

एकेके/एएनएम

कमेंट करें
qD9hG