comScore

महाराष्ट्र में राजनीतिक हलचल: सीएम उद्धव ठाकरे ने की गठबंधन नेताओं के साथ बैठक

महाराष्ट्र में राजनीतिक हलचल: सीएम उद्धव ठाकरे ने की गठबंधन नेताओं के साथ बैठक

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोनावायरस संकट के बीच महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल मची हुई है। भाजपा राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग कर रही है। इस बीच आज (बुधवार) मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने महाअघाड़ी नेताओं की बैठक बुलाई । यह बैठक वर्षा स्थित सीएम आवास में हुई। 

सभी विधायक हमारे साथ-शरद पवार
एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि भाजपा सरकार को गिराने की कोशिश में लगी हुई है। देवेंद्र फडणवीस ने अपना धैर्य खो दिया है। महाअघाड़ी सरकार को कोई खतरा नहीं है। सभी विधायक हमारे साथ है। 

हम केवल कोविड-19 से लड़ने की दिशा में काम कर रहे- नाना पटोले
कांग्रेस नेता और विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि राज्य की राजनीतिक स्थिति के बारे में मीडिया में जो भी कहा जा रहा है, राज्य में ऐसी कोई स्थिति नहीं है। इस समय, हम केवल कोविड-19 से लड़ने की दिशा में काम कर रहे हैं। हम भारत सरकार के सभी दिशानिर्देशों का पालन कर रहे हैं।

हम महाराष्ट्र में प्रमुख भूमिका में नहीं-राहुल गांधी
कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी महाराष्ट्र सरकार को चलाने में प्रमुख भूमिका में नहीं है। कांग्रेस महा विकास अघाड़ी का हिस्सा है और उसके पास प्रमुख मंत्रालय है, लेकिन राहुल गांधी ने कहा, 'हम केवल सरकार को मदद कर रहे हैं और राज्य में प्रमुख भूमिका में नहीं हैं।' हालांकि, राहुल गांधी ने राज्य सरकार का बचाव किया और कहा कि मुंबई पूरे देश से जुड़ा हुआ है और यही कारण है कि वहां कोविड के मामले बढ़ रहे हैं। राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी जहां अपनी सरकार चला रही है, वहां वह बेहतर काम कर रही है।

शरद पवार ने की राज्यपाल से मुलाकात
एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने सोमवार को राज्यपाल से मुलाकात की थी, हालांकि मंगलवार को शिवसेना सांसद संजय राउत ने सभी अटकलों को खारिज कर दिया। बाद में भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे ने भी राज्यपाल से मुलाकात की और कथित तौर पर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की। विभिन्न घटनाक्रमों के बीच, राणे ने दावा किया है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार राज्य में कोविड-19 महामारी संकट को संभालने में विफल रही है।

कमेंट करें
X9pmR