ममता का हिंदी में ट्वीट: भवानीपुर उपचुनाव से पहले ममता का हिंदी दिवस पर ट्वीट, समर्थकों में नाराजगी

September 14th, 2021

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने अपने फॉलोवर्स को हिंदी दिवस की शुभकामनाएं देते हुए एक संदेश भेजा। हालांकि, इसने पश्चिम बंगाल में उनके कई समर्थकों को नाराज कर दिया है। मंगलवार को एक हिंदी ट्वीट में ममता बनर्जी ने भारतीयों और भाषा को समृद्ध बनाने की दिशा में काम करने वालों को शुभकामनाएं दीं। हिंदी दिवस पर ममता बनर्जी की शुभकामनाएं भबानीपुर उपचुनाव से ठीक पहले आई हैं।

 

 

क्या कहा ममता बनर्जी ने?
ममता बनर्जी ने अपने ट्वीट में लिखा,  'हिन्दी दिवस के अवसर पर सभी देशवासियों एवं हिन्दी भाषा के विकास में अपना योगदान दे रहे सभी भाषाविदों को बहुत-बहुत शुभकामनाएं।' ममता के इस ट्वीट पर रिएक्ट करते हुए एक ट्विटर यूजर शशांको ने लिखा, 'मैडम, मैं आपको अपने परिवार का सदस्य मानता हूं। हिन्दी के प्रति आपका उत्साह हमारे लिए दुखदायी है। अगर हिंदी भाषियों को लुभाना आपको वोट हासिल करने में मदद कर सकता है तो आपको हमारे करदाताओं के पैसे का उपयोग करके हिंदी विश्वविद्यालय बनाने के बावजूद 2019 के परिणाम का सामना करना पड़ेगा!

एआईटीसी सपोर्टर नाम के एक अन्य ट्विटर यूजर ने लिखा, 'आप उन्हें कितना भी मक्खन लगा लें, वे हमेशा आपके खिलाफ रहेंगे। आपने जिस भी भाषा में ट्वीट किया है, इस ट्वीट से हकीकत नहीं बदलेगी। अगली बार फिर से सोचें जब आप 'बांग्ला निजेर मेय के चाय' कहकर वोट मांगें। अगर आप हमारे वोट चाहते हैं तो बीजेपी की तरह व्यवहार करना बंद करें। गौतम मजूमदार ने लिखा, 'मां, हम पर हिंदी मत थोपिए!'। तन्वी नाम के एक अन्य यूजर ने लिखा, 'आप बंगाल की सीएम हैं। आपने जिस भाषा में ट्वीट किया है, वह बंगाल के 86 फीसदी लोग नहीं समझते हैं। क्या बांग्ला दिवस हिंदी पट्टी में मनाया जाता है? कितने हिंदी भाषी 21 फरवरी को मनाते हैं? हिंदी थोपना बंद करो।'

भबानीपुर उपचुनाव ममता के लिए जीतना जरूरी
दक्षिण कोलकाता में स्थित, भबानीपुर कोलकाता के सबसे पुराने इलाकों में से एक है, जहां गैर-बंगाली वोटों का बेस है। मिश्रित जनसांख्यिकी के साथ, इस सीट में बंगालियों के अलावा गुजराती, मारवाड़ी और पंजाबी भाषी मतदाता शामिल हैं। ममत बनर्जी को सीएम की कुर्सी बरकरार रखने के लिए उपचुनाव जीतना जरूरी है। हाल ही में संपन्न बंगाल विधानसभा चुनाव में भाजपा ने अभिनेता रुदानिल घोष को इस सीट से मैदान में उतारा था। पार्टी ने अब उपचुनाव के लिए प्रियंका टिबरेवाल को चुना है। वह मारवाड़ी समाज से ताल्लुक रखती हैं।

खबरें और भी हैं...