comScore

NEP 2020: राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर सम्मेलन में बोले राष्ट्रपति- इससे युवाओं का भविष्य बनेगा सशक्त

NEP 2020: राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर सम्मेलन में बोले राष्ट्रपति- इससे युवाओं का भविष्य बनेगा सशक्त

हाईलाइट

  • नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर सम्मेलन में राष्ट्रपति का संबोधन
  • कहा- युवाओं के भविष्य को मजबूत करने में मील का पत्थर

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने शनिवार को नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (National Education Policy) पर आयोजित सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा, नई शिक्षा नीति (NEP) युवाओं के भविष्य को मजबूत करने में एक मील का पत्थर साबित होगी और इससे देश के लिए आत्मनिर्भर भारत बनने का मार्ग प्रशस्त होगा।

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, एनईपी 2020 के प्रभावी कार्यान्वयन से शिक्षा के एक प्रमुख केंद्र के रूप में भारत की छवि को फिर से गौरव प्राप्त होगा। यह हमारे देश के इतिहास में एक मील का पत्थर साबित होगा। इससे न केवल हमारे युवाओं का भविष्य सशक्त बनेगा, बल्कि यह हमारे देश को आत्मनिर्भर भारत बनने की दिशा में भी आगे ले जाएगा।

लाखों सुझावों पर विचार के बाद तैयार की गई शिक्षा नीति
राष्ट्रपति ने कहा, 2.5 लाख ग्राम पंचायतों, 12,500 से अधिक स्थानीय निकायों और लगभग 675 जिलों की व्यापक भागीदारी और 2 लाख से अधिक सुझावों पर विचार के बाद राष्ट्रीय शिक्षा नीति तैयार की गई है। हमारी परंपराओं में जिज्ञासा को हमेशा प्रोत्साहित किया जाता रहा है। जिज्ञासा को बहस या तर्क से जीतने की इच्छा से अधिक महत्व दिया गया है। मुझे खुशी है कि, 2018-19 के ऑल इंडिया सर्वे ऑफ हायर एजुकेशन में महिलाओं का GER (Gross Enrolment Ratio) पुरुषों से थोड़ा अधिक है। हालांकि राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों और तकनीकी शिक्षा में महिला छात्रों की हिस्सेदारी विशेष रूप से कम है। इसे दुरुस्त करने की आवश्यकता है। 

गौरतलब है कि, 29 जुलाई को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को मंजूरी दी थी, जिसका उद्देश्य देश में स्कूलों और उच्च शिक्षा प्रणाली में परिवर्तनकारी सुधार करना है। इसने शिक्षा पर 34 वर्षीय पुरानी नीति की जगह ली है।

कमेंट करें
TI8s1