comScore

UNGA: पीएम मोदी आज संयुक्त राष्ट्र महासभा को करेंगे संबोधित, इमरान खान को मिल सकता है जवाब


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संयुक्त राष्ट्र महासभा (UN General Assembly) को संबोधित करेंगे। शनिवार की शाम करीब 6.30 बजे संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र की आम सभा में पीएम मोदी का संबोधन होगा। उम्मीद जताई जा रही है कि, पीएम आतंक का मुद्दा उठा सकते हैं। वहीं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को भी जवाब मिल सकता है। कोरोना महामारी के कारण संयुक्त राष्ट्र महासभा का आयोजन ऑनलाइन किया जा रहा है। 

पीएम मोदी का संबोधन आतंक के मुद्दे के साथ ही कोरोना पर भी फोकस रह सकता है। पीएम मोदी महासभा के मंच से संयुक्त राष्ट्र में सुधार की बात भी उठा सकते हैं। संयुक्त राष्ट्र संघ की जनरल असेंबली में पीएम मोदी के संबोधन से एक दिन पहले यानी  25 सितंबर को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का संबोधन हुआ। इमरान खान ने अपने संबोधन में भारत पर भी टिप्पणी की।

भारत के प्रतिनिधि ने महासभा से किया वॉकआउट
वहीं संयुक्त राष्ट्र महासभा में इमरान खान का संबोधन शुरू होते ही भारत के प्रतिनिधि ने महासभा से वॉकआउट कर दिया। इमरान ने जैसे ही अपना संबोधन शुरू किया, वह भारत के खिलाफ हमलावर हो गए। एसेंबली चैम्बर की पहली कतार की दूसरी सीट पर बैठे फर्स्ट सेकेट्ररी मिजितो विनितो ने पहले अपनी सीट छोड़ दी। इमरान ने अपने संबोधन में पहले आरएसएस और फिर कश्मीर मुद्दे पर भारत पर हमले किए।

इमरान ने उठाया कश्मीर का मुद्दा
पीएम इमरान खान ने भारत पर झूठे आरोप लगाते हुए कहा, भारत ने श्मीर पर अवैध तरीके से कब्जा किया हुआ है और वहां के लोगों के मानवाधिकार का हनन कर रहा है। भारत अल्पसंख्यकों पर भी अत्याचार कर रहा है। संयुक्त राष्ट्र को इसका समाधान निकालना चाहिए। उन्होंने अनुच्छेद 370 के खात्मे की चर्चा करते हुए कहा, इससे कश्मीरी लोगों के अधिकारों को खत्म किया गया है।

RSS पर लगाए गंभीर आरोप तो की नेहरू की प्रशंसा
पीएम इमरान खान ने आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा कि आरएसएस गांधी और नेहरू के सेक्युलर मूल्यों को पीछे छोड़ भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने की कोशिश में लगा हुआ है। इमरान खान ने 2002 के गुजरात दंगों का भी जिक्र करते हुए कहा कि भारत में मुस्लिमों पर अत्याचार हो रहा है।

भारत ने दिया जवाब
वहीं भारत ने भी पाकिस्तान को जवाब दिया। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के सत्र में भारत ने पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए कहा कि दुनिया को ऐसे देश से मानवाधिकारों पर सबक लेने की जरूरत नहीं है, जिसे नर्सरी और आतंकवाद के उपरिकेंद्र के रूप में जाना जाता है। संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार परिषद में संबोधित करते हुए जेनेवा में भारत के स्थायी मिशन के प्रथम सचिव सेंथिल कुमार ने कहा कि पाकिस्तान भारत के खिलाफ निराधार और अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए हर अवसर का उपयोग करता है, जो उनके मन की नकारात्मकता को दिखाता है।

कमेंट करें
w3ukH