comScore

प्रियंका कांग्रेस शासित राज्य देंखे और अखिलेश सैफई : स्वतंत्र देव

May 20th, 2020 16:12 IST
प्रियंका कांग्रेस शासित राज्य देंखे और अखिलेश सैफई : स्वतंत्र देव

हाईलाइट

  • प्रियंका कांग्रेस शासित राज्य देंखे और अखिलेश सैफई : स्वतंत्र देव (साक्षात्कार)

लखनऊ, 20 मई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह का कहना है कि मोदी और योगी सरकार कोरोना की आपदा में लड़ने में लगी है। ऐसे में विपक्ष घटिया राजनीति पर उतर आया है। उनका कहना है प्रियंका गांधी कांग्रेस शासित राज्यों को देख लें कि वहां पर प्रवासी मजदूरों की क्या व्यवस्था है, उन्हें कैसे भेजा रहा है। उनकी मंशा अच्छी होती तो राजस्थान और पंजाब से मजदूर पैदल नहीं आते। अखिलेश के आरोपों पर स्वंत्रदेव कहते हैं कि बेहतर होगा कि एक बार वह अपने गांव सैफई के मजदूरों से पूछ लें उन्हें सच का पता चल जाएगा।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने आईएएनएस से विशेष बातचीत में कहा कि प्रवासी मजदूरों को लेकर कांग्रेस इस समय ओछी राजनीति कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि जिन प्रदेशों में कांग्रेस की सरकारें हैं, वहां पर प्रवासी मजदूरों के लिए ये कुछ नहीं कर रहे हैं, लेकिन यूपी में बसों के नाम पर ड्रामा कर रहे हैं।

स्वतंत्र देव ने कहा कि महाराष्ट्र, राजस्थान और पंजाब से मजदूरों को पैदल और ट्रकों में ठूंसकर भेजा जा रहा है। कांग्रेस वहां के लिए ट्वीट क्यों नहीं करती? उन प्रवासी मजदूरों के लिए बसों का इंतजाम क्यों नहीं करती? अगर महाराष्ट्र, पंजाब और राजस्थान से मजदूरों को बसों से भेजा जाता तो कोई समस्या न पैदा होती। जो हादसे हुए वे भी न होते।

उन्होंने कहा कि यूपी की योगी सरकार प्रवासी मजदूरों को देश के विभिन्न राज्यों से ट्रेन और बस के माध्यम से वापस लाकर सकुशल उनके घर तक पहुंचा रही है। अब तक 15 लाख से अधिक श्रमिक लाये जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार अन्य राज्यों के मजदूरों की भी उतनी ही चिंता कर रही है। अगर अन्य राज्य सरकारें अपने अपने प्रदेशों की चिंता की होतीं तो इतनी भयंकर भीड़ यूपी में न होती।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि कांग्रेस सहयोग के नाम पर कभी भी कुछ नहीं करती है। इस दल के किसी नेता ने कोरोना से लड़ने के लिए बने पीएम केयर फंड में भी कुछ नहीं जमा किया। यह दल केवल राजनीति करता है। ये लोग बयानबाजी ज्यादा करते हैं। गरीबों की सेवा से इनका कोई लेन देना नहीं है।

यह पूछने पर कि सपा मुखिया अखिलेश यादव भी आरोप लगा रहे हैं कि भाजपा सरकार कोई काम नहीं सिर्फ राजनीति कर रही है, इस पर भाजपा नेता ने कहा कि अखिलेश अपने गांव सैफई जाएं। मजदूरों से पूछ लें, जवाब मिल जाएगा। उन्होंने कहा कि इस समय हर पार्टी को गरीबों की सेवा करनी चाहिए। भाजपा द्वारा 2़ 94 करोड़ लोगों को भोजन, राशन किट मिल रहे हैं। ये 17 मई की शाम तक का आंकड़ा है। पीएम केयर फंड में यूपी के कार्यकर्ताओं ने 56 करोड़ रुपये जमा किया। 85 लाख मास्क वितरित हुए। 63,96,000 से अधिक आरोग्य सेतु एप डाउन लोड कराया।

लोग कह रहे हैं कि लॉकडाउन से पहले प्रवासियों को अपने घर पहुंचने के लिए समय देना चाहिए था। लोगों के इस सवाल पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का कहना है कि संकट के वक्त तत्काल निर्णय लेना पड़ता है। अगर समय से लॉकडाउन न किया जाता तो स्थितियां भयावह होती। प्रधानमंत्री ने इस संकट में जो पैकेज की घोषणा की है, वह कोई मामूली बात नहीं है।

स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि यूपी में कोरोना की स्थिति काफी नियंत्रित थी। लेकिन, पहले तबलीगी जमात ने और अब प्रवासी मजदूरों के कारण संख्या बढ़ रही है। उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द ही इस पर फिर से कंट्रोल हो जाएगा।

विपक्ष के अलावा भाजपा के भी कुछ विधायक और महापौर व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं। इस सवाल पर सिंह ने कहा कि अगर उनको लगता है कि कोई अधिकारी भ्रष्टाचार में लिप्त है या कोई समस्या है। तो उचित फोरम में उन्हें बात रखनी चाहिए। भाजपा एक अनुशासित पार्टी है। यहां ऐसा आचरण करना पड़ता है, जिससे जनता में लोकप्रियता और कार्यकर्ता में स्वीकार्यता बढ़े।

भविष्य में पंचायत और स्नातक निवार्चन चुनाव होने हैं, उनको लेकर भाजपा की तैयारी पर प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इस लेकर हमारी पहले से ही रचना बनी हुई है। ब्लाक और पंचायत तक अपना एक संयोजक बनाने का निर्णय लिया है और संयोजक बनाए जा रहे हैं। गांव स्तर पर और भी संयोजक बनाये जा रहे हैं। तो हमारी रचना सम्पूर्ण है, ग्राम पंचायत क्षेत्र, जिला पंचायत क्षेत्र, ब्लाक आदि हर जगह संयोजक बनाये जा रहे हैं। संगठन की दृष्टि से हमारा मंडल, सेक्टर और बूथ प्रभारी 13 मई तक बन गए हैं। संगठन की रचना पूरी हो गई है।

जब यह पूछा गया कि आपके प्रदेश अध्यक्ष बने काफी दिन हो गए अभी तक टीम नहीं है, कब तक इसकी संभावना है, सिंह ने कहा कि इस समय जिस संकट से लोग जूझ रहे हैं, उसमें पार्टी का लक्ष्य गरीबों की सेवा है। टीम तो आ ही जाएगी। इस समय जो जरुरी है, वो होना चाहिए। लॉकडाउन में केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ गरीबों तक पहुंचे, इसमें ही पूरा संगठन और सभी कार्यकर्ता लगे हुए हैं।

स्वतंत्र देव सिंह की पहचान जमीनी नेता और संघर्षषील कार्यकर्ता के रूप में होती है। भाजपा को सत्ता तक पहुंचाने में उनका भी बड़ा योगदान माना जाता है। दरअसल विधानसभा और लोकसभा चुनावों में रैली मैनेजमेंट से लेकर कई जिम्मेदारी इन्हीं के कंधो पर थी। इन्हीं सब का परिणाम रहा कि भाजपा सत्ता में आयी और स्वतंत्रदेव को प्रदेश संगठन की कमान मिली है। जब पूरा विश्व कोरोना से जूझ रहा है ऐसी विषम परिस्थितियों में भी वह संगठन को आगे बढ़ाने में लगे हुए हैं।

कमेंट करें
6yE7a