comScore

बयान: भाजपा नेता बोले- कोरोना वायरस ने हमें शहरी विकास के मुद्दे पर पुनर्विचार करने का मौका दिया

बयान: भाजपा नेता बोले- कोरोना वायरस ने हमें शहरी विकास के मुद्दे पर पुनर्विचार करने का मौका दिया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लेह दौरे के दौरान चीन का नाम लिए बगैर उस पर विस्तारवाद की नीति अपनाने का आरोप लगया था। उन्होंने कहा था कि विस्तारवाद का युग खत्म हो चुका है, अब विकासवाद का समय आ गया है। इसके बाद शनिवार को भाजपा नेता वरुण गांधी ने एक ट्वीट कर शहरी विकास के मुद्दे पर फिर से पुनर्विचार करने को कहा है। उन्होंने इस ट्वीट में पीएम मोदी को टैग किया है और इकोनॉमिक्स टाइम्स समाचार पत्र में छपे अपने एक आ​र्टिकल की कॉपी शेयर की है। इस ट्वीट में पीएम मोदी द्वारा दिए गए विस्तारवाद और विकासवाद वाले बयान को लेकर वरुण गांधी ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी ने हमें शहरी विकास पर पुनर्विचार करने के लिए एक स्वाभाविक तर्क प्रदान किया है।

वरुण ने कहा कि हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को हमारे देश के बहादुर सैनिकों से दुनिया के बारे में बात की। इस दौरान उन्होंने विस्तारवाद से दूर विकास पर ध्यान केंद्रित करने की बात कही। कोरोना वायरस महामारी ने हमें शहरी विकास पर पुनर्विचार करने के लिए एक स्वाभाविक तर्क प्रदान किया है। 

इकोनॉमिक्स टाइम्स में छपे आर्टिकल में वरुण गांधी ने लॉकडाउन के दौरान शहरों से हुए प्रवासी मजदूरों के पलायन और शहरी विकास के मुद्दे पर बात कही थी। उन्होंने कहा था कि पिछले दो महीनों में मुंबई से बड़ी संख्या में प्रवासियों का पलायन देखा गया है। कोरोना लॉकडाउन के समय शहर प्रवासियों के लिए ऐसी जगह बन गई थी, जहां वह और कुछ और समय नहीं रह सकते थे। शहर से बचने की कोशिश कर रहे थे। गांधी के मुताबिक, मेट्रो सिटी समेत महाराष्ट्र से लगभग 1.1 मिलियन प्रवासियों ने शहर छोड़ा है। इसी दौरान पूरे देश में 22 से 30 मिलियन प्रवासी शहरों से अपने घर-गांव लौटे हैं। इससे स्पष्ट है कि अधिकांश प्रवासियों की स्थिरता और समृद्धि के लिए शहरीकरण एक ही रास्ता नहीं है। 

कमेंट करें
NzmXA