त्रिपुरा सियासत में हलचल: त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव देब ने दिया इस्तीफा, माणिक साहा होंगे त्रिपुरा के नए मुख्यमंत्री

May 14th, 2022

डिजिटल डेस्क, अगरतला। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव देब ने शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने त्रिपुरा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को अपना इस्तीफा सौंपा दिया है। रात आठ बजे विधायक दल की बैठक होगी। बिप्लब कुमार देब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद केंद्रीय मंत्री और भाजपा के केंद्रीय पर्यवेक्षक भूपेंद्र यादव ने कहा कि नए नेता का चुनाव किया जाएगा। एएनआई न्यूज के मुताबिक माणिक साहा त्रिपुरा के नए मुख्यमंत्री हो होंगे। त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने माणिक साहा को सम्मानित किया, जो राज्य के नए मुख्यमंत्री होंगे।

केंद्रीय मंत्री और भाजपा के केंद्रीय पर्यवेक्षक भूपेंद्र यादव ने कहा कि बिप्लब देब के नेतृत्व में पिछले 4 सालों में राज्य में काफी विकास हुआ है। गौरतलब है कि प्रदेश में 25 साल के वामपंथी शासन को हटाकर बीजेपी ने पूर्ण बहुमत की सराकार बनाई थी। पहली बार सत्ता पर काबिज होने के बाद बीजेपी ने युवा नेतृत्व पर भरोसा जताते हुए उन्हें सीएम पद सौंपा था। हालांकि अचानक बिप्लव देब के इस्तीफे की वजह अंदरूनी विरोध माना जा रहा है।

इस्तीफे के बाद पूर्व सीएम का बयान

त्रिपुरा के पूर्व सीएम बिप्लब देब ने कहा कि राज्य में भाजपा का आधार मजबूत करने के लिए मुझे विभिन्न क्षेत्रों में जमीनी स्तर पर काम करने की जरूरत है। आने वाले विधानसभा चुनावों में फिर से बीजेपी सरकार बनाने के लिए सीएम की स्थिति में रहने के बजाय मुझे एक सामान्य कार्यकर्ता (पार्टी कार्यकर्ता) के रूप में काम करना चाहिए।

शीर्ष नेतृत्व था नाखुश

खबरों के मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री बिप्लव के कामकाज से कुछ बड़े नेता खुश नहीं थे। बताया जा रहा है कि इन्हीं वजह से पार्टी के कुछ नेता बीते दिनों पार्टी से दामन छुड़ा लिया है। राज्य स्तर से आ रही लगातार असंतोष की खबरों के बाद पार्टी ने एक्शन लिया है। बताया  जा रहा है कि पार्टी हाईकमान भी उनके प्रदर्शन से खुश नहीं था।

अगले साल हैं प्रदेश में चुनाव 

बता दें कि 2018 में बिप्लब देब राज्य के सीएम बने थे। माना जा रहा था कि पिछले कुछ दिनों से बिप्लब देब की कार्यशैली को लेकर आलाकमान अधिक खुश नहीं था। इस बीच बिप्लब ने खुद अपना इस्तीफा सौंप दिया है। प्रदेश में अगले साल चुनाव होने जा रहे हैं।