राजस्थान: दो पंचायतों की महिलाओं ने वोटिंग के जरिए कराई शराबबंदी

November 15th, 2021

डिजिटल डेस्क, जयपुर। राजस्थान के राजसमंद जिले की दो पंचायतों बरार और वैर की महिलाओं ने बड़ी संख्या में एकजुट होकर एक शराब की दुकान को हटाने के लिए मतदान किया। गांव में शराब की दुकान (ठेका) होगी या नहीं, इसके लिए मतदान कराया गया था, जिसमें महिलाओं ने बढ़-चढ़कर भाग लिया और शराब की बिक्री न होने के पक्ष में अधिक मतदान किया गया, जिससे अब इन गांवों में शराब की बिक्री पर प्रतिबंध का रास्ता साफ हो गया है। ये दोनों पंचायतें शनिवार को गांव में शराब की दुकान हटाने के पक्ष में मतदान करने वाली जिले की चौथी और पांचवीं पंचायत बन गई हैं। इससे पहले राजसमंद के भीमा अनुमंडल के कछबली, मंडावर और थानेटा पंचायतों में इसके लिए मतदान हो चुका है।

ग्रामीणों के आंदोलन के बाद राजस्थान आबकारी अधिनियम की संबंधित धारा के तहत मतदान हुआ। राजस्थान आबकारी (स्थानीय विकल्प द्वारा देशी शराब की दुकान को बंद करना) नियम, 1975 में पंचायत मतदान के माध्यम से शराब की दुकानों को बंद करने का प्रावधान है, यदि पर्याप्त लोग इसके खिलाफ मतदान करते हैं। मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ और शाम पांच बजे तक चला और 64 फीसदी मतदान दर्ज किया गया, जिसमें अधिकतर महिलाएं शामिल रहीं।आवश्यक न्यूनतम वोट कुल पंजीकृत 5,632 मतदाताओं का 51 प्रतिशत होना जरूरी था। इस कदम के पक्ष में कुल 3,326 मत पड़े, जबकि 175 ने प्रस्ताव के खिलाफ मतदान किया।

(आईएएनएस)