दैनिक भास्कर हिंदी: सीएए के विरोध में जामिया में उमड़ी भीड़, समर्थन देने येचुरी भी पहुंचे

December 22nd, 2019

हाईलाइट

  • सीएए के विरोध में जामिया में उमड़ी भीड़, समर्थन देने येचुरी भी पहुंचे

नई दिल्ली, 22 दिसंबर (आईएएनएस)। नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराने रविवार को बड़ी तादाद में प्रदर्शनकारी जामिया मिलिया इस्लामिया (जेएमआई) विश्वविद्यालय पहुंचे।

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्‍सवादी) के महासचिव और पार्टी के संसदीय समूह के नेता सीताराम येचुरी भी इस विरोध प्रदर्शन को अपना समर्थन देने जामिया गए।

हजारों की संख्यां में पहुंचे नागरिकों की भीड़ को संबोधित करते हुए सीताराम येचुरी ने कहा, देश में आज आर्थिक संकट है। प्रधानमंत्री मोदी ऐसे में अर्थव्यवस्था पर क्यों नहीं बोलतें। सरकार किसानों के लिए कुछ क्यों नहीं करती।

उन्होंने कहा कहा कि लोगों की समस्याओं का हल ढूंढने की बजाए लोगों में फूट डालने की कोशिश की जा रही है।

येचुरी ने कहा, सरकार ने लाखों करोड़ रुपये अपने बिजनेसमैन दोस्तों को बांटे, यदि यही पैसा वर्तमान में आई मंदी के दौरान सरकारी योजनाओं में लगाया जाता तो इससे अर्थव्यवस्था सुधरती।

उन्होंने कहा कि आज सरकार को बताना चाहिए कि हमारी समस्याओं का हल क्या है। युवा वर्ग के शिक्षा व रोजगार के लिए क्या किया जा रहा है। लेकिन ऐसे विषयों पर सरकार की ओर से कोई जवाब नहीं मिलता।

येचुरी ने अपनी व अपनी पार्टी की ओर से नागरिकता संशोधन कानून व एनआरसी दोनों मुद्दों पर इस आंदोलन को समर्थन देने की बात कही। अपने संबोधन के अंत में सीताराम येचुरी ने मोदी सरकार, सीएए व एनआरसी के खिलाफ नारे भी लगवाए।

इस बीच जामिया में उमड़ी जबरदस्त भीड़ के कारण जामिया के बाहर से गुजरने वाली एक मुख्य सड़क को ट्रैफिक के लिए पूरी तरह बंद कर दिया गया।

रविवार शाम होते होते जामिया में भीड़ इस कदर बढ़ गई की भीड़ व ट्रैफिक को काबू करने के लिए प्रदर्शनकारियों में से ही 200 से ज्यादा लोगों को व्यवस्था बनाने के लिए आगे आना पड़ा।

विश्वविद्यालय कैंपस के गेट नंबर-7 से लेकर जामिया इस्लामिया मेट्रो स्टेशन तक लोगों की भारी भीड़ रही। सड़क के दूसरी ओर भी लोगों का बड़ा जमावड़ा नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के लिए उमड़ा।

भारी भीड़ वह भाषण बाजी के बावजूद पूरा प्रदर्शन कुल मिलाकर शांतिपूर्ण रहा। पुलिस ने धरना स्थल से एक निश्चित दूरी बनाकर रखी। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए पुलिस पूरी तरह सतर्क थी। पुलिस ने धरने प्रदर्शन के बीच कोई हस्तक्षेप नहीं किया। पुलिस टुकड़ियां धरना स्थल से कुछ दूरी पर सुखदेव विहार मेट्रो स्टेशन के आस पास ही खड़ी रही।

-- आईएएनएस