comScore

AusOpen: गरबाइन मुगुरुजा-सोफिया केनिन पहली बार फाइनल में, एश्ले बार्टी-सिमोना हालेप टूर्नामेंट से बाहर


हाईलाइट

  • हालेप को सेमीफाइनल में स्पेन की गरबाइन मुगुरुजा ने 7(10)-6(8), 7-5 से माद दी
  • बार्टी को विमेंस सिंगल्स के सेमीफाइनल मैच में अमेरिका की सोफिया केनिन ने 7(8)-6(6), 7-5 से हराया
  • मुगुरुजा और केनिन पहली बार टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची हैं

डिजिटल डेस्क। रोमानिया की सिमोना हालेप और ऑस्ट्रेलिया की स्टार खिलाड़ी एश्ले बार्टी गुरुवार को साल के पहले ग्रैंड स्लेम टेनिस टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में उलटफेर का शिकार हुईं। वर्ल्ड नंबर-3 हालेप को सेमीफाइनल में स्पेन की गरबाइन मुगुरुजा ने 7(10)-6(8), 7-5 से मात देकर फाइनल में जगह बनाई। दो बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन मुगुरुजा पहली बार ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में पहुंची। 

मुगुरुजा ढ़ाई साल बाद किसी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची हैं। इस टूर्नामेंट में मुगुरुजा को कोई सीड नहीं मिली थी। 2014 के बाद से यह पहली बार है जब उन्हें किसी टूर्नामेंट में सीड नहीं दिया गया है। उन्होंने 2016 में फ्रेंच ओपन और 2017 में विंबलडन का खिताब जीता था।

वहीं वर्ल्ड नंबर-1 बार्टी को विमेंस सिंगल्स के सेमीफाइनल मैच में अमेरिका की सोफिया केनिन ने 7(8)-6(6), 7-5 से मात देकर टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया। केनिन ने पहली बार किसी ग्रैंड स्लेम टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई है। अब शनिवार को फाइनल में वर्ल्ड नंबर-32 मुगुरुजा और 14वीं सीड केनिन आमने-सामने होंगी। 

मैं यह नहीं सोच रही थी कि मैं हारूंगी
मुगुरुजा ने इस जीत के बाद कहा, मैं यह नहीं सोच रही थी कि मैं हारूंगी। एक समय ऐसा आता है जब आपके पास मौके होते हैं। मुझे पता था कि सिमोना के खिलाफ यह एक कड़ा मुकाबला होने वाला है। लेकिन मैं कोर्ट पर अपनी पूरी ऊर्जा के साथ खेल रही थी।

पाँच साल की थी, तब से इस पल के सपने देख रही हूं
केनिन इससे पहले किसी भी ग्रैंड स्लैम के फाइनल तक नहीं पहुंची। वह 2008 के बाद से इस टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश करने वाली सबसे युवा खिलाड़ी भी बन गईं हैं। फाइनल में पहुंचने पर केनिन ने कहा, बार्टी शानदार खिलाड़ी हैं, वह वास्तव में अद्भुत खेल रही हैं। मुझे पता था कि, मुझे वास्तव में जीतने का रास्ता खोजना होगा। ईमानदारी से इस जीत पर मुझे विश्वास नहीं हो रहा है। मैं पाँच साल की थी, तब से इस पल के सपने देख रही हूं। 

केनिन ने क्वार्टरफाइनल में ओन्स को हराया था
इससे पहले सोफिया केनिन ने मंगलवार को क्वार्टरफाइनल में ट्यूनिशिया की ओन्स जबेउर को 6-4, 6-4 से मात देकर पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के सेमीफाइनल में जगह बनाई थी।  वहीं 23 साल की बार्टी ने क्वार्टरफाइनल में पेत्रा क्वितोवा को 7-6 (8/6), 6-2 से मात देकर पहली बार ऑस्ट्रेलियन ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रहीं थीं। बार्टी पिछले साल फ्रेंच ओपन जीती थीं।

मुगुरुजा ने क्वार्टर फाइनल में पावल्यूचेंकोवा को मात दी थी
इससे पहले दो बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन मुगुरुजा ने क्वार्टर फाइनल में रूस की एनास्तासिया पावल्यूचेंकोवा को 7-5, 6-3 से मात देकर पहली बार इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की की थी। वहीं हालेप ने विमेंस सिंगल्स के क्वार्टर फाइनल में एस्तोनिया की एनेट कोंटावीट को 6-1, 6-1 से मात देकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया था। 28 साल की हालेप दूसरी बार ऑस्ट्रेलियन ओपन के सेमीफाइनल में पहुंची थीं। हालेप तीन साल पहले ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में ही कैरोलिन वोज्नियाकी के हाथों हार गई थी। लेकिन उसके बाद उन्होंने रोलां गैरों के रूप में अपना पहला ग्रैंड स्लैम खिताब जीता था। हालेप पिछले साल विंबलडन का खिताब भी जीत चुकी हैं।

कमेंट करें
2KZUf