comScore

प्रदर्शन में निरंतरता बनाए रखना सबसे बड़ी चुनौती : स्वितेक

October 13th, 2020 22:01 IST
 प्रदर्शन में निरंतरता बनाए रखना सबसे बड़ी चुनौती : स्वितेक

हाईलाइट

  • प्रदर्शन में निरंतरता बनाए रखना सबसे बड़ी चुनौती : स्वितेक

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। फ्रेंच ओपन के रूप में अपना पहला ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने वाली पोलैंड की युवा महिला टेनिस खिलाड़ी इगा स्वितेक ने कहा है कि इसी प्रदर्शन को आगे भी बनाए रखना उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती है।

स्वितेक ने रविवार को फ्रेंच ओपन के फाइनल में आस्ट्रेलियन ओपन विजेता अमेरिका की सोफिया केनिन को सीधे सेटों में 6-4,6-1 से मात दे अपना पहला ग्रैंड स्लैम खिताब जीता है।

19 साल की स्वितेक 2005 के बाद से फ्रेंच ओपन जीतने वाली सबसे युवा खिलाड़ी हैं। उनसे पहले स्पेन के राफेल नडाल ने 19 साल ही उम्र में ही यह खिताब जीता था। स्वितेक इसी के साथ अपने देश की पहली गैंड स्लैम विजेता बन गई हैं।

स्काई स्पोटर्स ने स्वितेक के हवाले से कहा, मुझे लगता है कि अपने प्रदर्शन में निरंतरता बनाए रखना मेरे लिए सबसे बड़ी चुनौती है। मुझे लगता है कि महिला टेनिस में इसी चीज के साथ संघर्ष करना पड़ता है।

उन्होंने कहा, इसलिए हमारे पास कई ग्रैंड स्लैम विजेता हैं क्योंकि हम निरंतरता नहीं रख पाते हैं। अपने प्रदर्शन में निरंतरता बनाए रखना ही मेरी प्राथमिकता है। इसे हासिल करना बहुत मुश्किल है।

स्वितेक ने दो साल पहले ही जूनियर विंबलडन का खिताब जीता था। पिछले सप्ताह ही उन्होंने टॉप सीड सिमोना हालेप को फ्रेंच ओपन के चौथे राउंड में हराया था।

उन्होंने कहा, मुझे खुद पर गर्व है। पिछले दो सप्ताह से मैंने शानदार प्रदर्शन किया है। मैंने इस ट्रॉफी को जीतने की उम्मीद नहीं की थी। निश्चित रूप से यह मेरे लिए अदभुत है। मेरे लिए यह जीवन बदलने वाला अनुभव है।

ईजेडए/एएनएम

कमेंट करें
KaGUe