दैनिक भास्कर हिंदी: विराट के Luck से भारत जीतेगा पहला टेस्ट! ICC ने ट्वीट किया कप्तान के साथ जुड़ा ये इत्तेफाक 

December 17th, 2020

डिजिटल डेस्क (भोपाल)।  ऑस्ट्रेलिया (AUS) और भारत (IND) के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का इकलौता डे-नाइट टेस्ट 17 दिसंबर से शुरू हो गया है।  भारत के लिए यह प्रारूप काफी नया है। दूसरी ओर, डे-नाइट टेस्ट प्रारूप में ऑस्ट्रेलिया सबसे अनुभवी टीम है। ऑस्ट्रेलिया ने डे-नाइट प्रारूप में सात टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें से चार एडिलेड ओवल में ही खेले हैं।  वहीं, आज भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर एक उम्मीद जगा दी है। दरअसल, आईसीसी ने एक ट्वीट किया है और लिखा है कि क्या आप जानते हैं कि कोहली कभी भी टेस्ट मैच नहीं हारे हैं अगर वे टॉस जीतते हैं। आगे पढ़िए विराट से जुड़े इस इत्तेफाक के बारें में... 

क्रिकेट में टॉस कोई भी जीत सकता है। हालांकि, मैच जीतने के लिए मेहनत करनी पड़ती है। लेकिन अगर किसी कप्तान के साथ यह इत्तेफाक जुड़ा हो कि टेस्ट में टॉस जीतने पर उसे मैच में भी जीत मिली हो तो फिर क्या कहने। इसे लकी चार्म ही कहा जा सकता है। भारत के लिए विराट कोहली भी ऐसे ही लकी चार्म हैं। कोहली ने 2015 के बाद से आज तक (एडिलेड टेस्ट, 17 दिसम्बर 2020) जितनी बार भी टेस्ट में टॉस जीता, भारत मैच हारा नहीं है। तो क्या कोहली का लकी चार्म भारत को एडिलेड में जारी डे-नाइट टेस्ट में भी जीत दिलाएगा?

कोहली इस टेस्ट के बाद स्वदेश लौट जाएंगे क्योंकि उनकी अभिनेत्री पत्नी अनुष्का शर्मा मां बनने वाली हैं और कोहली अपने पहले बच्चे के जन्म के समय अपने परिवार के साथ रहना चाहते थे। अब देखना यह है कि कोहली का लकी चार्म उन्हें जीत के साथ स्वदेश ले जा पाता है कि नहीं?

अब आंकड़ों की बात करते हैं। साल 2015 में कप्तान बने कोहली कप्तान के तौर पर टेस्ट मैचों में 25 बार (एडिलेड टेस्ट को छोड़कर) टॉस जीत चुके हैं और सबसे अहम बात यह है कि भारत एक बार भी हारा नहीं है। ऐसा नहीं है कि इन 25 के 25 मैचों में भारत को जीत मिली है। चार मैच ड्रॉ भी रहे हैं। सबसे अहम बात यह है कि भारत 21 बार जीता है।

इस बार मामला थोड़ा पेचीदा है क्योंकि भारत पहली बार आस्ट्रेलिया में डे-नाइट टेस्ट खेल रहा है। साथ ही यह उसका सिर्फ दूसरा डे-नाइट टेस्ट है जबकि आस्ट्रेलिया इस फारमेट में आठवीं बार खेल रहा है। आस्ट्रेलिया अब तक डे-नाइट टेस्ट नहीं हारा है। एडिलेड में यह उसका पांचवां मुकाबला है।