comScore

विवाद: अफरीदी ने भारत के खिलाफ उगला जहर, हरभजन ने कहा- आज के बाद इससे मेरा कोई रिश्ता नहीं


हाईलाइट

  • कोरोनावायरस पूरी दुनिया में कहर बरपा रहा है
  • कुछ पाकिस्तानी अभी भी कश्मीर मुद्दे पर अपने झूठे प्रचार में व्यस्त हैं
  • पाकिस्तान क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने भारत के खिलाफ उगला जहर

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोनावायरस पूरी दुनिया में कहर बरपा रहा है। भारत जैसे देश इससे निपटने के लिए अपने स्तर पर पूरी कोशिश कर रहे हैं। हालांकि कुछ पाकिस्तानी अभी भी कश्मीर मुद्दे पर अपने झूठे प्रचार में व्यस्त हैं। इस बार पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने ऐसा किया हैं। शनिवार को अफरीदी ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में जाकर भारतीय सेना और भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नफरत और जहर उगला। अफरीदी की इस हरकत के बाद पूर्व भारतीय ओपनर गौतम गंभीर और हरभजन सिंह ने उन्हें करारा जवाब दिया है। क्या कहा इन खिलाड़ियों ने आइए जानते हैं:

क्या कहा गंभीर और हरभजन ने?
गौतम गंभीर ने शाहिद अफरीदी पर तंज कसते हुए कहा '16 साल के अफरीदी कहते हैं कि पाकिस्तान की 7 लाख फौज के पीछे 20 करोड़ लोग खड़े हैं, तो फिर 70 साल से कश्मीर के लिए भीख क्यों मांग रहे। अफरीदी, इमरान खान और बाजवा भारत और मोदी के खिलाफ जहर जरूर उगल सकते हैं, लेकिन जजमेंट डे तक कश्मीर नहीं मिलेगा। बांग्लादेश याद है?' वहीं ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा, 'यह बहुत परेशान करने वाला है कि शाहिद अफरीदी हमारे देश और हमारे प्रधानमंत्री के बारे में इस तरह की बात कर रहे हैं। यह अनएक्सेपटेबल है।' उन्होंने ये भी कहा कि आज के बाद अफरीदी से मेरा कोई रिश्ता नहीं।

हरभजन और युवराज से क्यों नाराज है लोग?
जब से अफरीदी का वीडियो सामने आया है, तब से सोशल मीडिया पर इसकी खूब चर्चा हो रही है। कई लोग हरभजन और युवराज से भी नाराजगी जता रहे हैं, क्योंकि उन्होंने कोरोनोवायरस महामारी से प्रभावित लोगों के लिए शाहिद अफरीदी फाउंडेशन में योगदान दिया था। लेकिन अब हरभजन मान रहें है कि वह अफरीदी को पहचान नहीं सकें और उनसे गलती हुईं। हरभजन ने नाराज लोगों से माफी भी मांगी। हरभजन ने सफाई देते हुए कहा, अफरीदी के कहने पर उन्होंने फाउंडेशन के लिए वीडियो मैसेज बनाया था। इसका मकसद सिर्फ मानवता के आधार पर मदद करना था। हरभजन कहते हैं, 'मैं लोगों को बताना चाहता हूं कि मैं हिंदुस्तानी पैदा हुआ और हिंदुस्तानी ही मरूंगा। मैं देश के लिए शहीद हो सकता हूं।'

क्या था हरभजन और युवराज का वीडियो मैसेज?
अब हम आपको उस वीडियो मैसेज के बारे में बताते हैं जो हरभजन सिंह और युवराज ने शाहीद अफरीदी की फाउंडेशन के लिए बनाया था। वीडियो मैसेज में हरभजन ने कहा था, 'इस समय दुनिया बेहद ही मुश्किल परीक्षा से गुजर रही है और शाहिद अफरीदी सभी की मदद के लिए अच्छा काम कर रहे हैं। ऐसे में आप सभी शाहिद अफरीदी की इस मुहिम में जुड़कर अपना योगदान दें। युवराज सिंह ने भी ऐसा ही एक वीडियो मैसेज शेयर किया था। वीडियो शेयर करते हुए युवराज ने ट्विटर पर लिखा था, 'यह काफी मुश्किल समय है। यह समय है जब हम एक दूसरे के साथ आएं खासकर उनके जिनको जरूरत है। मैं शाहिद अफरीदी और एसएएफ संस्था का समर्थन करता हूं। कृपया डोनेटकोरोना डॉट कॉम पर दान दीजिए। घर में रहिए।'

अफरीदी किस बयान पर मच रहा बवाल?
अब शाहिद अफरीदी के उस बयान के बारे में जान लेते हैं जिस पर ये पूरा बवाल मचा हुआ है। एक वीडियो में अफरीदी कह रहे हैं, 'आप लोगों के बीच में आकर मैं खुश हूं। एक बहुत बड़ी बीमारी दुनिया में फैली हुई है। लेकिन, इससे भी बड़ी बीमारी मोदी के दिलो-दिमाग में है। यह बीमारी मजहब की है। वे मजहब को लेकर सियासत कर रहे हैं। सालों से कश्मीर में हमारे भाई-बहनों और बुजुर्गों पर जुल्म कर रहे हैं। उन्हें इसका जवाब देना होगा।' अफरीदी ने कहा, 'वैसे तो मोदी दिलेर बनने की कोशिश करते हैं। लेकिन, वो डरपोक हैं। छोटे कश्मीर के लिए उन्होंने अपनी 7 लाख फौज तैनात की है। जबकि पाकिस्तान की कुल फौज ही 7 लाख है। लेकिन उन्हें यह नहीं पता है कि पाकिस्तानी फौज के पीछे उनके 22-23 करोड़ लोग खड़े हैं।'

नया नहीं है अफरीदी का विवादों से नाता
अफरीदी का विवादों से पुराना नाता रहा है। अफरीदी कई ऐसे कारनामों को अंजाम दे चुके हैं जिससे उनके देश, उनके फैंस और उनके माता-पिता, परिवार का सिर भी शर्म से झुक गया था। साल 2000 में पाकिस्तान के तीन खिलाड़ी कराची के होटल में लड़कियों के साथ मौजूद थे। कराची के होटल के उस कमरे में शाहिद अफरीदी भी थे। सफाई दी कि वो उनकी महिला फैंस थी जो कि उनसे ऑटोग्राफ लेने आई थी। लेकिन पीसीबी ने अफरीदी एक नहीं सुनी और 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया। इसके साथ ही पीसीबी ने इन खिलाड़ियों को कुछ समय के लिए टीम से बाहर भी कर दिया। पाकिस्तान की टीम से निकाले जाने से बड़ी बात ये थी कि शाहिद अफरीदी अपने परिवार से नजरें मिलाने लायक भी नहीं बचे थे। मार्च 2012 में अफरीदी एक प्रशंसक को कराची एयरपोर्ट पर पीटते हुए देखे गए थे।

पाकिस्तानी गेंदबाज ने भी लगाया था अफरीदी पर बुरे बर्ताव का आरोप
हाल ही में शाहिद अफरीदी पर पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज दानिश कनेरिया ने भी उनके साथ बुरा बर्ताव करने का आरोप लगाया था। कनेरिया ने कहा था, 'अफरीदी हमेशा से मेरे खिलाफ थे। जब हम घरेलू क्रिकेट में एक डिपार्टमेंट की तरफ से खेले या पाकिस्तान की वनडे टीम में। उनका बर्ताव बुरा ही रहता था। आप समझ सकते हैं कि अगर कोई शख्स हमेशा आपके खिलाफ हो,  तो इसके पीछे धर्म के अलावा कोई दूसरा कारण आपको नजर नहीं आता है। 18 वनडे से ज्यादा खेल सकता था, लेकिन अफरीदी की वजह से ऐसा नहीं हो पाया। अफरीदी जब घरेलू क्रिकेट में भी कप्तान थे, तब भी मुझे ज्यादा मौके नहीं मिले और वनडे में भी उन्होंने बिना किसी वजह के ऐसा किया। 

कमेंट करें
3SqdJ