दैनिक भास्कर हिंदी: कंगारू हुए चाइनामैन के शिकार, Video में देखें कैसे पूरी हुई 'हैट्रिक'

September 22nd, 2017

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डन में खेले गए दूसरे वनडे में टीम इंडिया की तरफ से चाइनामैन बॉलर कुलदीप यादव ने जो कमाल किया, वो आखिरी बार 26 साल पहले हुआ था। आखिरी बार 1991 में टीम इंडिया के कपिल देव ने श्रीलंका के खिलाफ खेलते हुए हैट्रिक लगाई थी और अब कुलदीप यादव ये करिश्मा करके इंडिया के तीसरे और पहले स्पिनर बन गए हैं, जिसने इंटरनेशनल क्रिकेट में हैट्रिक लगाई है। कोलकाता वनडे में ऑस्ट्रेलिया टीम का स्कोर 32 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 148 रन था। इसके बाद अगला ओवर कुलदीप यादव ने डाला और एक के बाद एक तीन विकेट लेकर न सिर्फ इतिहास रचा, बल्कि कंगारुओं की कमर भी तोड़ दी। 

वेड, एगर और कमिंस को बनाया अपना शिकार

ऑस्ट्रेलिया की टीम जब 253 रन का टारगेट चेज़ करने उतरी तो उसकी शुरुआत खराब रही और टीम 32 ओवर में 5 विकेट खोकर सिर्फ 148 रन ही बना पाई थी। हालांकि उस वक्त भी ऑस्ट्रेलिया भी काफी मजबूत स्थिति में थी और उसे जीत के लिए 108 बॉल पर 105 रन ही चाहिए थे। लेकिन अगला यानी 33वां ओवर डालने के लिए कैप्टन कोहली ने कुलदीप यादव को बॉल थमाई। 33वें ओवर में ही कुलदीप यादव ने ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू वेड, एश्टन एगर और पैट कमिंस को अपना शिकार बनाया और हैट्रिक पूरी की। 

कैसे बना इतिहास? 

कुलदीप यादव 33वां ओवर डालने आए, तो उनके सामने मैथ्यू वेड थे। पहली बॉल मैथ्यू वेड से बीट हो गई, लेकिन अगली ही बॉल पर चाइनामैन ने मैथ्यू वेड को बोल्ड कर दिया। इसके बाद अगली बॉल पर एश्टन एगर आए, लेकिन उन्हें भी कुलदीप ने LBW कर चलता किया। इसके बाद अगली बॉल कुलदीप यादव की हैट्रिक बॉल थी और उनके सामने पैट कमिंस थे। अपने ओवर की चौथी बॉल डालने के लिए कुलदीप ने जैसे ही स्टार्ट लिया तो सबकी नजर उनपर थी और इस बॉल पर कुलदीप ने कमिंस अपना कैच धोनी को थमा बैठे और कुलदीप ने अपनी हैट्रिक पूरी कर इतिहास रच दिया। 

 

इंटरनेशनल करियर में दूसरी बार किया ये कारनामा

कुलदीप यादव ने कोलकाता वनडे में अपने वनडे करियर की पहली हैट्रिक लगाई, लेकिन इंटरनेशनल करियर में वो इससे पहले भी एक बार ये कारनामा कर चुके हैं। साल 2014 में इंडिया और स्कॉटलैंड के बीच अंडर-19 वर्ल्ड कप का मैच खेला जा रहा था। उस मैच में कुलदीप ने लगातार 3 बॉलों पर 3 विकेट लेकर हैट्रिक लगाई थी।