comScore

कोहली के विजय मंत्र- न्यूजीलैंड 300 भी बनाए तो घबराने की जरूरत नहीं

January 22nd, 2019 20:19 IST
कोहली के विजय मंत्र- न्यूजीलैंड 300 भी बनाए तो घबराने की जरूरत नहीं

हाईलाइट

  • भारतीय टीम न्यूजीलैंड के मिशन पर पहुंच चुकी है।
  • सीरीज से पहले कप्तान विराट कोहली ने टीम को जीत का मंत्र दिया है।
  • कोहली ने कहा कि न्यूजीलैंड सीरीज वर्ल्डकप से पहले टीम के लिए काफी महत्वपूर्ण होगा।

डिजिटल डेस्क, नेपियर। ऑस्ट्रेलिया में मिली ऐतिहासिक जीत के बाद भारतीय टीम न्यूजीलैंड के मिशन पर पहुंच चुकी है। मंगलवार से शुरू हो रहे पांच मैचों की वनडे सीरीज से पहले कप्तान विराट कोहली ने टीम को जीत का मंत्र दिया है। कोहली ने कहा कि न्यूजीलैंड सीरीज वर्ल्डकप से पहले टीम के लिए काफी महत्वपूर्ण होगी, क्योंकि इससे टीम की तैयारियों का पता चलेगा। कोहली ने कहा कि न्यूजीलैंड के बॉलर्स काफी अनुभवी हैं और इसको लेकर हमें डरने की जरूरत नहीं है। कोहली ने इसके साथ ही यह भी कहा है कि अगर न्यूजीलैंड की टीम 300 का स्कोर करती है, तो टीम को घबराने की जरूरत नहीं है। 

मंगलवार से शुरू हो रहे मैच से पहले प्री-मैच कॉन्फ्रेंस में कहा, 'न्यूजीलैंड की टीम दुनिया की तीसरे रैंक वाली टीम है। यह उनके कन्सिसटेंसी को दर्शाता है। हाल ही में भारत दौरे पर उन्होंने हमें मुंबई में हराया था। उनकी टीम में यूथ और एक्सपीरियंस प्लेयरों का अच्छा कॉम्बिनेशन है। मुझे लगता है कि वर्ल्ड क्रिकेट में न्यूजीलैंड की टीम सबसे बैलंस साइड में से एक है। न्यूजीलैंड में बॉलरों को काफी मदद मिलती है। छोटा ग्राउंड होने की वजह से मैच हाई स्कोरिंग भी होते हैं। मुझे लगता है कि न्यूजीलैंड की टीम अगर 300 का स्कोर खड़ा कर देती है, तो हमें घबराना नहीं चाहिए। पिछली बार जब हम यहां आए थे, तो हम 300 नहीं बना पाए थे। ऐसा इसलिए क्योंकि हममें उस तरह का कम्पोजर नहीं था। हालांकि इस बार हमारी टीम काफी स्ट्रॉन्ग है। जो काम हमने ऑस्ट्रेलिया में किया, वही हम न्यूजीलैंड में भी दोहराएंगे।'

टीम कॉम्बिनेशन को लेकर कोहली ने कहा कि हार्दिक पंड्या के न होने से हमें तीन तेज गेंदबाजों के साथ उतरना पड़ रहा है। कोहली ने कहा, 'टीम में ऑलराउंडर होने के कई फायदे हैं। अगर आप दुनिया की कुछ सफल टीमों पर नजर डालें, तो उनमें दो या तीन ऑलराउंडर्स हैं। हार्दिक और विजय शंकर के होने से टीम को कई ऑप्शन मिलते हैं। हमें पहले वनडे के लिए टीम चुनने से पहले इस बात पर जरूर गौर करना होगा।' 

ऑस्ट्रेलिया में खेले गए सीरीज के दौरान कुछ फैंस ने कोहली को बू भी किया था। मीडिया द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या इससे उन्हें फर्क पड़ता है। कोहली ने कहा, 'मेरे पास एक बड़ी जिम्मेदारी है। अपने देश के लिए खेलना सम्मान की बात है। मुझे नहीं लगता कि स्टेडिम में लोगों के होने या न होने से मुझे कोई फर्क पड़ता है। मुझे नहीं लगता कि मुझे उनकी जरूरत पड़ती है कि क्राउड मेरी तरफ है या मेरे खिलाफ। मुझे पता है कि मैदान में उतरते ही मुझे अपनी जिम्मेदारियों को निभाना है। ऐसे में चाहे मैदान के अंदर 1 व्यक्ति हो, या 50,000 लोग, मुझे अपने काम से मतलब है। मैं इसी मानसिकता के साथ पिछले दो या तीन सालों से खेल रहा हूं। इन सभी चीजों के बारे में मैं ज्यादा नहीं सोचता हूं।'

कमेंट करें
VQdD7