दैनिक भास्कर हिंदी: IPL 2018 : 7वीं बार फाइनल में चेन्नई सुपर किंग्स, हैदराबाद को 2 विकेट से हराया

May 23rd, 2018

हाईलाइट

  • चेन्नई सुपर किंग्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2018) का पहला क्वालीफायर मुकाबला जीतकर फाइनल का टिकट पक्का कर लिया है।
  • चेन्नई ने सनराइजर्स हैदराबाद को मैच में 2 विकेट से करारी शिकस्त दी है।
  • आईपीएल के इतिहास में चेन्नई सुपर किंग्स 7वीं बार फाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बन गई है।

डिजिटल डेस्क, मुंबई। चेन्नई सुपर किंग्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2018) का पहला क्वालिफायर मुकाबला जीतकर फाइनल का टिकट पक्का कर लिया है। चेन्नई ने सनराइजर्स हैदराबाद को मैच में 2 विकेट से करारी शिकस्त दी है। आईपीएल के इतिहास में चेन्नई सुपर किंग्स 7वीं बार फाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बन गई है। अब चेन्नई सुपर किंग्स का फाइनल मुकाबला 27 मई रविवार को दूसरी क्वालीफायर टीम के साथ होगा। यह दूसरी क्वालीफायर टीम कोलकाता नाइट राइडर्स, राजस्थान रॉयल्स या फिर सनराइजर्स हैदराबाद में से कोई भी हो सकता है।

मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर हैदराबाद को पहले बल्लेबाजी दी थी। पहले बल्लेबाजी करते हुए हैदराबाद की शुरुआत बेहद ही खराब रही। सनराइजर्स की ओर से ओपनर शिखर धवन मैच की पहली ही गेंद पर बोल्ड होकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद लगातार अंतराल में हैदराबाद ने श्रीवत्स गोस्वामी (12), कप्तान केन विलियमसन (24) और शाकिब अल हसन (12) के रूप में अपने विकेट गंवा दिए। छठवें विकेट के रूप में हरफनमौला खिलाड़ी युसुफ पठान भी 24 रन बनाकर आउट हो गए। सनराइजर्स हैदराबाद की पूरी टीम 20 ओवर में 7 विकेट गंवाकर महज 139 रन ही बना सकी और चेन्नई के सामने मैच जीतने के लिए 140 रन का टारगेट सेट किया।

चेन्नई की ओर से शानदार गेंदबाजी करते हुए ड्वेन ब्रावो ने 2 विकेट चटकाए, जबकि दीपक चहर, लुंगी नगिदी, शार्दुल ठाकुर और रविंद्र जडेजा ने 1-1 विकेट हासिल किए।

फॉफ डू प्लेसिस की मैच जिताऊ पारी
इसके बाद 140 रन के टारगेट का पीछा करने मैदान में उतरी चेन्नई सुपर किंग्स की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसने अपना पहला विकेट शून्य पर ही शेन वॉटसन (0) के रूप में गंवा दिया था। चेन्नई की ओर से एक मात्र खिलाड़ी फॉफ डू प्लेसिस ने 67 रन की नाबाद मैच जिताऊ पारी खेली। इनके अलावा कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर नहीं टिक सका। एक समय था जब चेन्नई ने 113 रन पर अपने 8 विकेट गंवा दिए थे, तब ऐसा लग रहा था मानो चेन्नई ने पूरी तरह से मैच गंवा दिया हो। मगर दूसरी ओर मोर्चा संभाले क्रीज पर डटे डू प्लेसिस ने शानदार पारी खेलते हुए अपनी टीम को जीत दिलाई और फाइनल में पहुंचाया। आखिरी ओवर में चेन्नई को जीत के लिए 6 रन की जरूरत थी, उस समय डू प्लेसिस ने भुवनेश्वर की पहली ही गेंद पर छक्का मारकर अपनी टीम को जीत दिला दी। हैदराबाद की ओर से संदीप शर्मा, सिद्धार्थ कौल और राशिद खान ने 2-2 विकेट झटके, जबकि भुवनेश्वर कुमार को 1 ही विकेट मिला।

सनराइजर्स हैदराबाद टीम : केन विलियमसन (कप्तान), भुवनेश्वर कुमार, शिखर धवन, शाकिब-अल-हसन, मनीष पांडे, कालोर्स ब्रैथवेट, यूसुफ पठान, रिद्धिमान साहा (विकेटकीपर), राशिद खान, रिक्की भुई, दीपक हुड्डा, सिद्धार्थ कौल, टी. नटराजन, मोहम्मद नबी, बासिल थम्पी, के. खलील अहमद, संदीप शर्मा, सचिन बेबी, क्रिस जोर्डन, तन्मय अग्रवाल, श्रीवत्स गोस्वामी, बिपुल शर्मा, मेहेदी हसन और एलेक्स हेल्स।

चेन्नई सुपर किंग्स टीम : महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान/विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, सुरेश रैना, ड्वेन ब्रावो, शेन वॉटसन, अंबाती रायुडू, मुरली विजय, हरभजन सिंह, फॉफ डु प्लेसिस, सैम बिलिंग्स, दीपक चहर, लुंगी नगिदी, के.एम. आसिफ, कनिष्क सेठ, मोनू सिंह, ध्रुव शोरे, क्षितिज शर्मा, चैतन्य बिश्नोई, कर्ण शर्मा, इमरान ताहिर, शार्दुल ठाकुर, एन. जगादेसन।