comScore

10 साल पहले पिद्दी सी टीम ने दी थी इंग्लैंड को जबरदस्त शिकस्त, विश्व कप में रचा था इतिहास 

10 साल पहले पिद्दी सी टीम ने दी थी इंग्लैंड को जबरदस्त शिकस्त, विश्व कप में रचा था इतिहास 

हाईलाइट

  • 10 साल पहले आज ही के दिन (2 मार्च 2011) को बेंगलुरू में विश्व कप का वन-डे मैच खेला गया था।
  • इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 327 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया था।
  • आयरलैंड ने यह मैच 5 गेंदें शेष रहते 3 विकेट से जीत लिया

डिजिटल डेस्क (भोपाल)। 10 साल पहले आज ही के दिन (2 मार्च 2011) को बेंगलुरू में विश्व कप का वन-डे मैच खेला गया था। यह मैच क्रिकेट में पिद्दी सी टीम मानी जा रही आयरलैंड और इंग्लैंड के बीच खेला गया था। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 327 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया था। जब जवाबी पारी खेलने आयरलैंड की टीम मैदान में उतरी तो किसी ने सोचा नहीं था कि यह टीम इतिहास रचने वाली है। आयरलैंड की तरफ से 1 घंटे तक जबरदस्त बल्लेबाजी करने वाले पिंक हेयर खिलाड़ी ने इंग्लैंड को परास्त कर दिया। 

इंग्लैंड से बल्लेबाज जोनाथन ट्रॉट की 92 रन की पारी की मदद से 327 रन का मजबूत लक्ष्य आयरलैंड के सामने रखा था। आयरलैंड के गेंदबाज जॉन मूनी ने 9 ओवर में 63 रन देकर चार विकेट लिए थे। इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरी आयरलैंड की टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और टीम के कप्तान विलियम पोर्टरफील्ड शून्य के स्कोर पर एंडरसन की गेंद पर बोल्ड हो गए। 

पहले विकेट शून्य पर गिर जाने के बाद आयरलैंड के बल्लेबाज पॉल स्टर्लिंग और एड जॉयस ने टीम को संभाला और स्कोर जब 63 रन पहुंचा तो टीम को दूसरा झटका पॉल स्टर्लिंग के रूप में लगा। वह 32 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए। देखते ही देखते आयरलैंड की आधी टीम पवैलियन लौट गई और स्कोर 5 विकेट पर 111 रन हो गया। अब टीम की हार निश्चित लग रही थीं। लेकिन तभी मैदान पर बल्लेबाजी करने उतरे केविन ओ'ब्रायन (Kevin O'Brien) मैच का रूख ही बदल दिया। 

1 घंटे तक बल्लेबाजी करने वाले केविन ओ'ब्रायन विश्व कप के इतिहास में सबसे तेज शतक लगाया। महज 50 गेंदों में उन्होंने 100 रन बनाए। इसके साथ ही 6वें विकेट के लिए  एलेक्स कस्कैक के साथ 162 रन की साझेदारी की। 47 रन के निजी स्कोर पर जब एलेक्स कस्कैक आउट हुए तब आयरलैंड का स्कोर था 6 विकेट पर 273 रन। अब यहां से जीत के लिए सिर्फ 55 रन की जरूरत थी। 

दूसरे छोर पर केविन ओ'ब्रायन की ऐतिहासिक पारी जारी थी। उन्होंने 63 गेंदों में 113 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी में 16 चौके और छह छक्के लगाए।  केविन ओ'ब्रायन जब आउट हुए तो स्कोर 317 पर 7 विकेट था। इसके बाद आयरलैंड ने यह मैच 5 गेंदें शेष रहते 3 विकेट से जीत लिया और केविन ओ'ब्रायन को उनकी इतिहास रचने वाली पारी के लिए मैन ऑफ दा मैच चुना गया। 

कमेंट करें
nYJ0P