दैनिक भास्कर हिंदी: जयवर्धने ने पूछा, अंतिम एकादश से बाहर का खिलाड़ी कैसे मैच फिक्सिंग कर सकता है?

June 20th, 2020

हाईलाइट

  • जयवर्धने ने पूछा, अंतिम एकादश से बाहर का खिलाड़ी कैसे मैच फिक्सिंग कर सकता है?

कोलंबो, 20 जून (आईएएनएस)। श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने ने देश के पूर्व खेल मंत्री महिंदानंद अल्थगमागे के उस बयान के बाद उनकी आलोचना की है, जिसमें उन्होंने रूपष्ट करते हुए कहा था कि वह 2011 के विश्व कप फाइनल में मैच फिक्सिंग में शामिल किसी भी खिलाड़ी पर आरोप नहीं लगा रहे हैं।

अल्थगमागे ने आरोप लगाया था कि मुंबई में मेजबान भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया विश्व कप 2011 का फाइनल मुकाबला फिक्स था। उनके बयान के बाद सरकार ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पूर्व खेल मंत्री ने बाद में कहा कि वह मैच बेचने के लिए अधिकारियों पर आरोप लगा रहे हैं।

अल्थगमागे के इस बयान के बाद जयवर्धने और 2011 विश्व कप फाइनल में श्रीलंका के कप्तान रहे कुमार संगकारा ने पूर्व खेल मंत्री के बयान की आलोचना करते हुए कहा कि वे हैरान हैं कि कोई खिलाड़ी बिना खेले कैसे मैच फिक्सिंग कर सकता है।

जयवर्धने ने ट्विटर पर कहा, कुछ लोग आरोप लगाते हैं कि हमने 2011 विश्व कप को बेच दिया था तो यह स्वाभाविक रूप से एक बड़ी बात है कि हम यह नहीं जानते कि अंतिम एकादश का हिस्सा नहीं होने के बाद कोई कैसे मैच फिक्स कर सकता है? उम्मीद है कि हम नौ साल बाद प्रबुद्ध हो जाएंगे।

अल्थगमागे ने कहा कि उन्होंने 2012 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से इसकी शिकायत की थी और मामले की जांच की मांग की थी।

उन्होंने कहा था, मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में भारत से फाइनल हारने के एक साल बाद ही कुछ क्रिकेट अधिकारियों ने कथित तौर पर कार कंपनियों को खरीदा और नए कारोबार शुरू किए।

उन्होंने कहा कहा कि महेला ने कहा है कि सर्कस शुरू हो चुका है। मैं नहीं समझ पाया कि क्यों महेला और संगकारा इस मामले को बड़ा बना रहे हैं। मैं अपने किसी खिलाड़ी का नाम नहीं ले रहा हूं।

- -आईएएनएस