दैनिक भास्कर हिंदी: Tokyo Olympics 2020 : लवलीना के जोरदार पंचो ने जगाई मेडल की उम्मीद

July 27th, 2021

हाईलाइट

  • मेडल से बस एक जीत दूर हैं लवलीना
  • दो बार विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीत चुकीं लवलीना
  • असम के मुख्यमंत्री ने साइकिल चलाकर शुभकामनाएं दी

डिजिटल डेस्क, टोक्यो। वेल्टवेट कैटेगरी में भारत की बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन ने टोक्यो ओलंपिक में शानदार शुरुआत की है। उन्होंने राउंड ऑफ 16 (64-69 किग्रा वर्ग) में जर्मनी की एपेट्ज नेदिन को 3-2 शिकस्त दी। इस मैच को जीतने के साथ ही उन्होंने अंतिम आठ में जगह बना ली है। अब वह मेडल से बस एक जीत दूर हैं। अगर लवलीना अगला मुकाबला जीत जाती हैं तो भारत के लिए एक और पदक पक्का हो जाएगा। 

24 साल की लवलीना बोरगोहेन ने असम के एक छोटे से गांव से ओलंपिक तक का सफर तय किया है। लवलीना बोरगोहेन असम के गोलाघाट जिले  के छोटे से गांव बरोमुखिया की रहने वाली हैं। उनके गांव में महज 2 हजार की आबादी है। 

दो बार विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीत चुकीं लवलीना असम की पहली बॉक्सर हैं जिन्होंने ओलंपिक के लिए क्वॉलिफाई किया है। लवलीना बोरगोहेन टोक्यो ओलंपिक में 69 किलोग्राम वर्ग में हिस्सा ले रही हैं। 

असम के मुख्यमंत्री ने साइकिल चलाकर शुभकामनाएं दी

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा की अगुवाई में विधानसभा अध्यक्ष बिस्वजीत दैमारी और विपक्ष के नेता देवव्रत सैकिया ने साइकिल चलाकर टोक्यो ओलंपिक में असम की एकमात्र खिलाड़ी लवलीना बोरगोहेन को सफलता हासिल करने के लिए शुभकामनाएं दी।
उनके साथ कई मंत्रियों, विधायकों और वरिष्ठ अधिकारियों ने ‘गो फॉर ग्लोरी - लवलीना’ का आयोजन किया। यह साइकिल रैली ‘लास्ट गेट’ से शुरू हुई और शहर के नेहरू स्टेडियम में संपन्न हुई।