comScore

Jammu and Kashmir: हंदवाड़ा में आतंकी हमले में CRPF के 3 जवान शहीद, एक आतंकी ढेर, मुठभेड़ जारी

Jammu and Kashmir: हंदवाड़ा में आतंकी हमले में CRPF के 3 जवान शहीद, एक आतंकी ढेर, मुठभेड़ जारी

हाईलाइट

  • एनकाउंटर में सुरक्षा बलों ने एक आतंकी को भी किया ढेर
  • मुठभेड़ में सीआरपीएफ के तीन जवान भी शहीद
  • बीते दो दिन में आतंकी हमले में 5 जवान शहीद

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। कोरोना संकट के बीच भारतीय सेना घाटी में लगातार आतंकियों से लोहा ले रही है। इस बीच सोमवार शाम जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकियों ने भारतीय सुरक्षाबलों पर एक बार फिर हमला कर दिया। हमले में तीन जवान शहीद हो गए, जबकि सात जवान घायल हो गए हैं। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने भी गोलीबारी की। इसमें एक आतंकी को मार गिराया है। सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। अभी मुठभेड़ जारी है। बता दें कि हंदवाड़ा में बीते दो दिन में आतंकी हमले में 8 जवान शहीद हो चुके हैं। इससे पहले रविवार को भी हंदवाड़ा में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें कर्नल, मेजर और 5 जवान शहीद हो गए थे। वहीं सुरक्षा बलों ने 2 आतंकियों को भी ढेर किया था।

वहीं इस बीच, आतंकवादियों ने श्रीनगर के बाहरी इलाके में नौगाम के वागूरा इलाके में भी सीआईएसएफ की पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला किया है। इस हमले में सीआईएसएफ का जवान घायल हुआ है। सुरक्षा बलों ने इस इलाके को सील कर दिया है।

कमांडिंग ऑफिसर समेत 5 जवान शहीद हुए थे
शनिवार शाम को शुरू हुई मुठभेड़ के कुछ घंटे बाद रात में इस टीम से संपर्क कट गया था। अधिकारियों ने बताया कि शहीद होने वालों में 21 राष्ट्रीय राइफल्स के सीओ कर्नल आशुतोष शर्मा (निवासी बुलंदशहर-उत्तर प्रदेश, मौजूदा-जयपुर), मेजर अनुज सूद (पुणे), नायक राजेश कुमार (मन्सा-पंजाब) व लांस नायक दिनेश सिंह (मीर गांव, भानोली, अल्मोड़ा-उत्तराखंड) तथा जम्मू कश्मीर पुलिस के सब इंस्पेक्टर शकील काजी भी शामिल हैं। शहीद होने वाले सभी जवान सेना की 21 राष्ट्रीय राइफल्स के थे।

सेना ने मकान में आतंकियों से छुड़ाए थे बंधक
डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में हंदवाड़ा के चांजमुल्ला इलाके में शनिवार को एक मकान में छिपे आतंकवादियों ने कुछ नागरिकों को बंधक बना लिया था। इसके बाद कर्नल शर्मा के नेतृत्व में नागरिकों को मुक्त कराने के लिए सेना व पुलिस की पांच सदस्यीय टीम बनाई गई। यह टीम मकान में जब बंधकों को छुड़ा रही थी तो मकान में मौजूद आतंकियों ने भारी गोलीबारी कर दी। इसके बाद भी टीम ने बंधक बनाए गए नागरिकों को मुक्त करा लिया। आतंकियों की गोलीबारी का टीम ने भी जवाब दिया। इसमें दो आतंकी मार गिराए थे।

इस साल अब तक 62 आतंकी मारे गए
इस साल जनवरी से अब तक जम्मू-कश्मीर के अलग-अलग इलाकों में हुई मुठभेड़ में 62 से ज्यादा आतंकी मारे गए हैं। लॉकडाउन के दौरान आतंकियों की ओर से सीमा पार से लगातार घुसपैठ की कोशिशें हो रही हैं।

कमेंट करें
wQf8o
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।