विश्वास या धोखा: मणिपुर के मुख्यमंत्री ने भाजपा में शामिल हुए जदयू के 5 विधायकों को बधाई दी

September 4th, 2022

हाईलाइट

  • कांग्रेस ने की आलोचना

डिजिटल डेस्क, इंफाल। मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अधिकारीमयुम शारदा देवी ने शनिवार को जनता दल-यूनाइटेड (जद-यू) के पांच विधायकों को बधाई दी, जो शुक्रवार को सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल हो गए।

मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट में कहा: राज्य भाजपा अध्यक्ष ए शारदा देवी के साथ, कल भाजपा में विलय हुए जदयू के 5 विधायकों का दिल से स्वागत किया। यह विलय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के नेतृत्व में लोगों द्वारा दिए गए प्यार और विश्वास को दशार्ता है।भाजपा सूत्रों ने बताया कि अभी तक 5 विधायकों को किसी भी सरकारी पद पर समायोजित करने का निर्णय नहीं लिया गया है।

मणिपुर विधानसभा सचिव के. मेघजीत सिंह ने कहा कि स्पीकर थोकचोम सत्यब्रत सिंह ने संविधान की 10वीं अनुसूची के तहत मणिपुर विधानसभा में जदयू के पांच विधायकों का भाजपा विधायक दल में विलय को स्वीकार कर लिया है।भाजपा में शामिल होने वाले पांच विधायक खुमुक्कम जॉयकिसन सिंह (थांगमेईबंद), नगुरसंगलुर सनाटे (टिपईमुख), मोहम्मद अचब उद्दीन (जिरीबाम), थंगजाम अरुणकुमार (वांगखेई) और एलएम खौटे (चुराचंदपुर) हैं।

फरवरी-मार्च विधानसभा चुनाव में, जद-यू ने 60 सदस्यीय विधानसभा में छह सीटें जीती थीं और मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार को अपना समर्थन दिया था। भाजपा में शामिल नहीं होने वाले छठे विधायक मोहम्मद नासिर हैं, जो लिलोंग विधानसभा क्षेत्र से विधानसभा के लिए चुने गए थे।जद (यू) के 5 विधायकों के विलय से भाजपा की ताकत बढ़कर 37 हो गई है।विपक्षी कांग्रेस ने जदयू विधायकों के भाजपा में शामिल होने के फैसले की आलोचना की है।

 

आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

खबरें और भी हैं...