खड़ी हुई मुश्किल: चिंचवड सीट का उपचुनाव लड़ने शिवसेना और राकांपा में खींचतान 

January 25th, 2023

डिजिटल डेस्क, मुंबई। पुणे के चिंचवड विधानसभा सीट पर घोषित हुए उपचुनाव को लड़ने के लिए विपक्षी गठबंधन महाविकास आघाड़ी के दो घटक दलों शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) और राकांपा में खींचतान शुरू हो गई है। चिंचवड सीट पर शिवसेना की ओर से दावा ठोंकने से राकांपा के लिए मुश्किल खड़ी हो गई है। इस बीच सत्तारूढ़ भाजपा चिंचवड सीट के उपचुनाव को निर्विरोध कराने के लिए प्रयास में जुटी है। बुधवार को शिवसेना सांसद संजय राऊत की मौजूदगी में दादर स्थित शिवसेना भवन में पुणे के चिंचवड और कसबा पेठ सीट पर घोषित उपचुनाव की तैयारी को लेकर बैठक हुई। इसके बाद राऊत ने कहा कि शिवसेना चिंचवड सीट के उपचुनाव लड़ना चाहती है। उन्होंने कहा कि राकांपा भी चिंचवड सीट पर उपचुनाव लड़ना चाहती है। लेकिन मुझे उम्मीद है कि  महाविकास आघाड़ी के तीनों दलों में आपसी चर्चा में हल निकाल लिया जाएगा। राऊत ने कहा कि साल 2019 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के तत्कालीन उम्मीदवार रहे दिवंगत विधायक लक्ष्मण जगताप के खिलाफ शिवसेना के राहुल कलाटे ने बगावत करके निर्दलीय चुनाव लड़ा था। जिसमें भाजपा उम्मीदवार जगताप को 1 लाख 50 हजार 723 वोट मिले थे। जबकि कलाटे ने 1 लाख 12 हजार 225 वोट हासिल किया था। उस चुनाव में कलाटे को निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में राकांपा ने भी समर्थन दिया था। इसलिए हमें विश्वास है कि इस बार का उपचुनाव को शिवसेना जीत लेगी। राऊत ने कहा कि मंगलवार देर रात को विधानसभा में विपक्ष के नेता अजित पवार और प्रदेश राकांपा के अध्यक्ष जयंत पाटील ने मातोश्री में शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी। जिसमें उद्धव ने राकांपा के नेताओं से कहा कि चिंचवड सीट पर उपचुनाव शिवसेना लड़ेगी। जबकि कसबा पेठ सीट के उपचुनाव को कांग्रेस और राकांपा में से कौन लड़ेगा।

इस बारे में महाविकास आघाड़ी के तीनों दलों के बीच बैठक में तय कर लिया जाएगा। दूसरी ओर प्रदेश राकांपा अध्यक्ष पाटील ने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ताओं ने चिंचवड और कसबा पेठ दोनों सीट लड़ने की मांग की है। इसलिए सीटों को लड़ने को लेकर अगले कुछ दिनों में महाविकास आघाड़ी की बैठक में अंतिम फैसला लिया जाएगा। जबकि राकांपा की सांसद सुप्रिया सुले ने कहा कि चिंचवड सीट के बारे में अगले दो दिनों में फैसला हो जाएगा। वहीं भाजपा ने उपचुनाव लड़ने की तैयारी को लेकर चिंचवड में एक बैठक की। जिसके बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता तथा राज्य के उच्च व तकनीकी शिक्षा मंत्री चंद्रकांत पाटील ने कहा कि किसी विधायक के निधन के बाद होने उपचुनाव को निर्विरोध कराने की परंपरा रही है। इसलिए भाजपा चिंचवड सीट का उपचुनाव निर्विरोध कराना चाहती है। लेकिन यदि विपक्ष इसके लिए तैयार नहीं हुआ तो भाजपा की चुनाव लड़ने की पूरी तैयारी है। इस बीच निर्वाचन आयोग ने पुणे की दोनों सीटों चिंचवड और कसबा पेठ सीट के उपचुनाव के लिए मतदान की तारीख 27 फरवरी से बदलकर 26 फरवरी कर दिया है। आयोग ने कक्षा 12 वीं और स्नातक परीक्षा के कारण तारीख में बदलाव किया है। उल्लेखनीय है कि भाजपा विधायक लक्ष्मण जगताप के निधन से चिंचवड सीट और भाजपा विधायक मुक्ता तिलक के निधन से कसबा पेठ सीट पर उपचुनाव हो रहा है।