comScore

उल्कापिंड गिरने से बनी झील के पानी का रंग गुलाबी हुआ

उल्कापिंड गिरने से बनी झील के पानी का रंग गुलाबी हुआ

डिजिटल डेस्क, बुलढाणा | आम तौर पर हरी नजर आने वाली लोणार झील महज तीन दिन में गुलाबी रंग की हो गई है। करीब 35 से 50 हजार साल पहले गिरे उल्कापिंड की वजह से बनी यह खारे पानी की बड़ी झील है। इसकी गहराई 450 फीट तक है। 1983 के बाद पहली बार इस झील में पानी इस स्तर तक घटा है। इससे खारे पानी में पैदा होने वाले जीवों की संख्या  भी बढ़ी है। ऐसा अनुमान अध्ययनकर्ता लगा रहे हैं।

विशिष्ट बैक्टीरिया की वजह से हो सकता है गुलाबी रंग
अध्ययनकर्ताओं का मानना है कि विशिष्ट बैक्टीरिया की वजह से इसका रंग गुलाबी होने का अनुमान है। इसकी विस्तृत पड़ताल की जा रही है।

कमेंट करें
CAB74