अजब-गजब : 22 दिसंबर को होती है साल की सबसे लंबी रात, जानिए इसके पीछे रहस्य

December 21st, 2022

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पृथ्वी पर हर दिन समान नहीं होता है। कभी दिन बड़ा होता है तो कभी रातें। आमतौर पर गर्मियों में दिन बड़ा होता है और सर्दियों में रातें। लेकिन इस बीच साल में एक बार ऐसा एक दिन जरूर आता है, जिसकी रात बेहद लंबी होती है। इस साल यह 22 दिसंबर को होगा, जब साल का सबसे छोटा दिन (Shortest Day) और सबसे लंबी रात (Longest Night) होगी। पिछले साल (2021) 21 दिसंबर को सबसे छोटा दिन और लंबी रात थी। 

इस दौरान दिन 10 घंटे 41 मिनट का होगा जबकि रात की कुल अवधि 13 घंटे 19 मिनट होगी। सूर्योदय से सूर्यास्त तक के समय को एक दिन कहते हैं। इस दिन सूर्य अपने निर्धारित समय से पहले ही अस्त हो जाता है। दुनिया के हर देश में ऐसा नहीं होता है। यह खगोलीय घटना केवल उत्तरी गोलार्ध (Northern hemisphere) के देशों में होती है, जबकि दक्षिणी गोलार्ध (Southern hemisphere) के देशों में इसके विपरीत होता है और सबसे लंबा दिन होता है।

इसलिए होता है ऐसा 

दरअसल, इसका संबंध धरती द्वारा सूरज की परिक्रमा से है। 22 दिसंबर को सूर्य मकर रेखा पर वर्टीकल रहेगा, जिसकी वजह से उत्तरी गोलार्द्ध में सबसे बड़ी रात और सबसे छोटा दिन होगा। सूर्य के चारों तरफ धरती के परिभ्रमण की वजह से 22 दिसंबर को मकर रेखा पर सूर्य लंबवत होगा। इसकी वजह से उत्तरी गोलार्द्ध में सबसे बड़ी रात और सबसे छोटा दिन होगा। 22 दिसंबर को देश के अलग-अलग स्थानों पर सूर्योदय सुबह 6.00 - 7.00 बजे के बीच होगा। देश की राजधानी दिल्ली में 22 दिसंबर को सूर्योदय सुबह 7.11 बजे और सूर्यास्त 5.29 मिनट पर होगा। 

वैज्ञानिकों के अनुसार 22 दिसंबर को सूर्य कर्क रेखा से मकर रेखा यानी उत्तरायण से दक्षिणायन की ओर आता है। इस दिन पृथ्वी झुकी हुई धुरी पर घूमती है, जिसके कारण साल का सबसे छोटा दिन और सबसे लंबी रात होती है। सबसे छोटे इस दिन को विंटर सॉल्सटिस (Winter solstice) भी कहा जाता है।

खबरें और भी हैं...