अजब गजब: 11 साल तक लड़के को लड़की समझती रही दुनिया, फिर जो हुआ उसने सबको चौका दिया 

February 23rd, 2022

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लंबे बाल रखना हर लड़की का सपना होता है। ऐसा कहा जाता है कि लड़कियों के कमर तक लटकते बाल उनकी खूबसूरती को बढ़ा देते हैं। लेकिन क्या हो जब एक दशक बाद आपको पता चले कि लंबे और खूबसूरत वालों वाली कोई लड़की नहीं लड़का है। ब्रिटिश के कैंब्रिजशायर में कुछ ऐसा ही देखने को मिला। जहां एक लड़के ने अपने बालों को 11 साल तक नहीं कटवाए। उसके खूबसूरत, लंबे और सुनहरे बालों को देखकर अक्सर लोग उसे लड़की समझ लेते थे।

लेकिन कुछ दिनों पहले एक ऐसी परिस्थिति आई, जब उस बच्चे ने खुद अपने बाल कटवा लिए। इससे वे लोग चौक गए जो उसे अब तक लड़की समझ रहे थे। कौन है ये लड़का और क्यों कटवाना पड़े उसे अपने बाल? यह कहानी भी दिलचस्व है, आइए जानते हैं आज की इस अजब गजब स्टोरी में...

सालों से टंकियों में पड़े है शव, लाशों को दोबारा जिंदा करने पर चल रहा है एक्सपेरिमेंट

इसलिए पहली बार कटवाए थे बाल
यह कहानी ब्रिटिश के कैंब्रिजशायर में रहने वाले एक लड़के की है। जिसका नाम एली मैकगी है। 27 इंच लंबे बालों में घूमने वाला ये बच्चा बिल्कुल लड़कियों की तरह दिखता था और वो अपने इन लंबे बालों के साथ स्कूल भी जाता था। घर के बाहर के लोग उसे एक लड़की की तरह देखते थे। लेकिन एक दिन उसने अपने खूबसूरत बालों को कटवा दिया। 

दरअसल, उसने अपने बालों को कैंसर से जूझ रहे बच्चों की मदद के लिए दान कर दिया था। अंतरराष्ट्रीय बाज़ारों में बालों की कीमत कितनी है यह तो हम सभी जानते हैं। बच्चे ने भी छोटी सी उम्र में ही अपने बालों की कीमत के साथ-साथ उन बच्चों का दर्द भी समझा जो कैंसर जैसी लाइलाज बीमारी से जूझ रहे हैं। 

11 साल की उम्र में एली मैकगी ने अपने 27 इंच लंबे-सुनहरे बालों में से 16 इंच बाल दान कर दिए। एली पहली बार सैलून गया था, जहां उसने एक ट्रस्ट को अपने बाल दान किए। इन बालों से उन बच्चों के लिए विग बनाए जाएंगे जिन्होंने कैंसर की वजह से अपने बाल खो दिए हैं।

समुद्र में तैर रहे शख्स पर पड़ी शार्क की नजर, फिर जो हुआ उसे देख रोंगटे खड़े हो जाएंगे

एली की माँ भी हो चुकी है कैंसर का शिकार
बच्चे की मां बेकी ब्रेनेट भी खुद फेफड़े के कैंसर का सामना कर चुकी हैं। एली के एक घंटे चले हेयरकट से रॉयल पैपवर्थ हॉस्पिटल के लिए भी पैसे इकट्ठा किया गया है, जहां उसकी मां का इलाज हुआ है। बता दें कि दिसंबर में उसकी मां को कैंसर डायग्नोज़ हुआ था। पहला स्टेज होने की वजह से उसकी मां अब ठीक हो चुकी है। मां के इलाज के समय एली ने अस्पताल के लोगों की मेहनत देखी और उनसे प्रभावित होकर उसने हेयरकट के ज़रिये फंड इकट्ठा करने का तरीका सोचा। जानकारी के मुताबिक इससे हॉस्पिटल के लिए करीब डेढ़ लाख रुपये जमा किए गए हैं, जो मरीज़ों, स्टाफ और रिसर्च पर खर्च किए जाएंगे।