comScore

Father's Day special: इन सितारों ने अपने पिता को खोया. पर हमेशा हिम्मत बंधाती रहेगी उनकी सीख

Father's Day special: इन सितारों ने अपने पिता को खोया. पर हमेशा हिम्मत बंधाती रहेगी उनकी सीख

डिजिटल डेस्क,मुंबई। कोरोना महामारी ने दुनिया को तोड़ कर रख दिया। किसी ने अपना पिता खोया, किसी ने अपनी मां और किसी ने अपने पूरा परिवार को ही खो दिया। दुनिया में इससे बुरा कुछ और नहीं हो सकता, जब किसी बच्चें के सर से उसके पिता का साया उठ जाता है। फर्क नहीं पड़ता कि आपकी उम्र क्या है। पिता की जरुरत हर उम्र में पड़ती है। फादर्स डे के मौके पर हम आपकों बताएंगे उन 10 सितारों के बारे में, जिन्होंने कोरोना महामारी के दौरान अपने पिता खो दिए।

टेलीविजन एक्टर गौरव चोपड़ा ने 29 अगस्त 2020 को अपने पिता को खो दिया। गौरव के पिता कोरोना संक्रमित होने के बाद वेंटिलेटर पर थे। सबसे बड़ा दु:ख तो इस बात का हैं कि, 10 दिन के अंतर पर गौरव की मां का भी निधन हो गया था। एक साथ एक्टर ने अपने माता-पिता दोनों को खो दिया। गौरव ने अपने पिता की फोटो शेयर करते हुए लिखा था कि- श्री स्वतंत्र चोपड़ा। मेरे हीरो, मेरे आइडल, मेरी प्रेरणा. मुझे ये बात समझने में 25 साल लगे कि सारे पिता उनकी तरह नहीं होते हैं। वो स्पेशल थे। उनका बेटा होना मेरे लिए वरदान के समान है। मेरी मां ने हमें 19 तारीख को अलविदा कहा और पिता ने 29 तारीख को। 10 दिन में वे दोनों चले गए। एक खालीपन जिंदगी में आ गया है जो कभी नहीं भरने वाला।

Gaurav Chopra father dies of Covid-19 ten days after the demise of his mother- टीवी एक्टर गौरव चोपड़ा के पिता का कोरोना वायरस से हुआ निधन, शेयर किया इमोशनल पोस्ट - India TV Hindi News

टीवी सीरियल 'चंद्रगुप्त मौर्या' और 'एक वीर की अरदास वीरा' में नजर आ एक्ट्रेस स्नेहा वाघ के पिता का निधन 27 अप्रैल 2021 को हुआ था। स्नेहा के पिता को न्यूमोनिया और कोरोना संक्रमण एक साथ हो गया था। स्नेहा ने सोशल मीडिया पर अपने पिता को याद करते हुए लिखा था कि, "डियर पापा, आपने अपने शब्दों से कई लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाई है, उनका दिन बनाया है। आप बहुत पेशेन्स वाले इंसान थे, जिसका दिल बहुत खूबसूरत था। आपने हमें मजबूत रहना और आत्मविश्वास से भरा सिखाया है। आपने हमें खुद की इज्जत करना सिखाया है और सपनों को पाना भी।

ज्योति' एक्ट्रेस स्नेहा वाघ के पिता का कोरोना से निधन, लिखी इमोशनल पोस्ट - Sneha Wagh Father Passes Away Due To Covid 19 Actress Shares Emotional Post tmov - AajTak

बॉलीवुड और पंजाबी रैपर बाबा सहगल के पिता का निधन 13 अप्रैल 2021 हो गया था। बता दें कि, बाबा सहगल के पिता कोरोना संक्रमित थे। बाबा सहगल ने अपनी पोस्ट में पिता के बारे में जानकारी देते हुए लिखा था कि, 'आज सुबह तड़के पिताजी हमें छोड़कर चले। पूरी जिंदगी किसी योद्धा किसी योद्धा की तरह लड़े लेकिन कोविड के आगे हार गए। प्लीज आप सभी उन्हें दुआओं में याद रखना। सभी सुरक्षित रहें और सभी पर ईश्वर की कृपा बनी रहे।'

baba sehgal father passes away due to covid 19: Baba Sehgal father passes away due to Covid 19: पॉप्युलर रैपर बाबा सहगल के पिता का मंगलवार सुबह कोरोना के चलते निधन हो

कोरोना काल में बॉलीवुड एक्टर राजेश खट्टर के पिता का निधन कोरोना संक्रमण की वजह से हो गया था, जिसके बाद उन्हें अस्पताल से सीधे श्मशान घाट लेकर जाना पड़ा था। राजेश खट्टर ने पिता को याद करते हुए एक पोस्ट शेयर किया और लिखा कि, ”रेस्ट इन पीस डैड, अब फिर वैसा कुछ नहीं होगा। कृष्ण खट्टर (18-04-2021)”

आर्थिक तंगी की खबरें सुनकर भड़के राजेश खट्टर, कहा- इतनी बुरी हालत भी नहीं

टीवी की मशहूर ऐक्ट्रेस हिना खान के पिता का निधन 20 अप्रैल 2021 को हो गया था। बता दें कि, हिना के पिता का निधन मुंबई स्थित घर पर कार्डियक अरेस्‍ट की वजह से हुआ। अपने पिता के निधन के कुछ दिनों बाद हिना ने एक इमोशनल नोट शेयर करते हुए लिखा था कि, 'मेरे प्यारे पापा असलम खान 20 अप्रैल 2021 को हम सबको छोड़कर चले गए। इस मुश्किल वक्त में आप सभी ने मेरा और मेरे परिवार का बहुत सपोर्ट किया। इसके लिए मैं आप सब की आभारी हूं।

Hina Khan's father passes away after suffering from cardiac arrest

एक्ट्रेस गौहर खान के पिता का निधन 5 मार्च 2021 को हो गया है। गौहर के पिता जफर अहमद खान बीमार चल रहे थे। गौहर ने एक इमोशनल नोट शेयर करते हुए लिखा था कि, मेरे हीरो। आपकी तरह कोई भी कभी नहीं हो सकता है। मेरे पिता का निधन हो गया है। वह एक बहुत ही खूबसूरत आत्मा थे और हमेशा रहेंगे। मैं आपसे हमेशा बहुत प्यार करुंगी। अपनी दुआओं में उन्हें याद रखना।

GAUAHAR KHAN के पिता जाफर खान का हुआ निधन, लम्बे समय से बीमार थे |

कुछ दिन पहले ही पॉप्युलर यूट्यूबर भुवन बाम के माता-पिता का कोरोना संक्रमण की वजह से निधन हो गया। भुवन ने एक फोटो शेयर कर लिखा कि, 'कोविड की वजह से मैंने अपनी दोनों लाइफलाइंस को खो दिया। आई और बाबा के बिना कुछ भी पहले जैसा नहीं रहेगा। एक महीने में सब बिखर चुका है। घर, सपने, सब कुछ। मेरी आई मेरे पास नहीं है, मेरे बाबा मेरे पास नहीं हैं। अब शुरू से जीना सीखना पड़ेगा। मन नहीं कर रहा।'

bhuvan bam parents death due to coronavirus: भुवन बाम के माता-पिता का कोरोना से निधन, यूट्यूबर ने कहा- सब कुछ बिखर गया - bhuvan bam parents passed away due to coronavirus |

टीवी एक्ट्रेस संभावना सेठ के पिता एसके सेठ का 8 मई 2021 को कार्डियक अरेस्ट की वजह से निधन हो गया था। बता दें कि, संभावना के पिता कोरोना पॉजिटिव थे। संभावना के ऑफिशियल इंस्टाग्राम अकाउंट से एक पोस्ट शेयर की गई थी, जिसमें लिखा था कि, 'आज शाम 5.37 बजे संभावना ने कोविड 19 के बाद दिल का दौरा पड़ने से अपने पिता को खो दिया। कृपया उनको अपनी प्रार्थनाओं में जगह देना।' 

संभावना सेठ ने प‍िता के न‍िधन के बाद जाहिर क‍िया गुस्‍सा- उन्हें स‍िर्फ COVID ने नहीं मारा... | Sambhavna Seth lost Her Father due to coronavirus says It Was Not Just Covid

बाबिल खान के पिता और बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता इरफान खान का निधन 29 अप्रैल साल 2020 को हुआ था। बता दें कि, इरफान कैंसर से पीड़ित थे और लंबे इलाज के बाद उन्होंने दुनिया का अलविदा कह दिया। इरफान की निधन के बाद बाबिल ने अपने पहले पोस्ट में लिखा, 'मैं उन सभी संवेदनाओं के लिए तहेदिल से आभारी हूं जो आप प्यारे लोग मुझे भेज रहे हैं। हालांकि, मुझे उम्मीद है कि आप समझ रहे होंगे कि अभी मैं जवाब देने में सक्षम नहीं हूं क्योंकि मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता। मैं आपके पास आऊंगा लेकिन फिलहाल नहीं। बहुत बहुत धन्यवाद। आपको प्यार।'

Irrfan Khan son Babil drop a hint in Bollywood debut क्या इरफान खान के बेटे बाबिल ने बॉलीवुड में डेब्यू का संकेत दिया? - India TV Hindi News

टीम इंडिया के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या और क्रुणाल पांड्या ने हाल ही में अपने पिता को खो दिया। उनके पिता की मौत दिल का दौरा पड़ने की वजह से हुई। पिता की निधन के बाद हार्दिक पंड्या ने सोशल मीडिया पर एक भावुक पोस्ट करते हुए लिखा, 'मेरे पिता, मेरे हीरो। आपको खो देने की बात को मानना जिंदगी की सबसे कठिन चीजों में से एक है, लेकिन आपने हमारे लिए इतनी बड़ी यादें छोड़ दी हैं कि, हम केवल कल्पना कर सकते हैं कि आप मुस्कुरा रहे हैं।'

Cricketers Hardik And Krunal Pandya's Father Dies, Virat Kohli And Other Tweet Their Condolences | Cricket News

कमेंट करें
RF9Jo
NEXT STORY

क्या है ड्रोन ? देश की सुरक्षा के लिए कितना घातक हो सकता है, जानें सबकुछ

क्या है ड्रोन ? देश की सुरक्षा के लिए कितना घातक हो सकता है, जानें सबकुछ

डिजिटल डेस्क, श्रीनगरजम्मू कश्मीर की सीमा के आसपास ड्रोन की हलचलें लगातार तेज होती जा रही हैं। इसके बाद भारत ने भी ये मुद्दा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठाया है कि ड्रोन की इस तरह की गतिविधियां न सिर्फ भारत बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी सुरक्षा के दृष्टिकोण से घातक साबित हो सकती हैं। इस हमले के बाद से भारत में ड्रोन के इस्तेमाल को लेकर बहस छिड़ गई है। इस रिपोर्ट में जानिए आखिर ड्रोन है क्या और यह कैसे ऑपरेट होते हैं? इसके इस्तेमाल और इससे क्या नुकसान हो सकता है और देश में ड्रोन्स को उड़ाने को लेकर सरकार की क्या गाइडलाइन्स हैं।

ड्रोन क्या होता है?
ड्रोन्स को UAV यानी Unmanned aerial vehicles या RPAS यानी Remotely Piloted Aerial Systems भी कहा जाता है। आम बोल चाल वाली भाषा में इसे मिनी हैलिकॉप्टर भी कहते हैं। अक्सर शादी के दौरान फोटोग्राफी के लिए आपने ड्रोन का इस्तेमाल होते हुए देखा होगा। यह एक ऐसा यंत्र है, जिसमें एचडी कैमरे, ऑनबोर्ड सेंसर और जीपीएस लगा होता है। इसे नियंत्रित करने के लिए एक सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है। इसके चारों और 4 रोटर्स लगे होते हैं, जिनकी मदद से यह आसमान में ऊंचा उड़ने में सक्षम होता है। एक ड्रोन का वजन 250 ग्राम से लेकर 150 किलोग्राम से भी ज्यादा हो सकता है।

ड्रोन को उड़ाने के लिए सॉफ्टवेयर, जीपीएस और रिमोट की आवश्यकता होती है। रिमोट के जरिए ही ड्रोन को ऑपरेट और कंट्रोल कर सकते हैं। ड्रोन पर लगे रोटर्स की गति को रिमोट की जॉयस्टिक के जरिए कंट्रोल किया जाता है। वहीं, जीपीएस दिशाएं बताता हैं, जीपीएस दुर्घटना होने से पहले ही ऑपरेटर को चेतावनी भेज देता है। 

ड्रोन हमले किस तरह से हो सकते हैं?
ड्रोन का इस्तेमाल कई देशों की सेनाएं कर रही हैं, क्योंकि ये साइज में छोटे होते हैं इसलिए रडार की पकड़ में आसानी से नहीं आ पाते हैं, साथ ही दुर्गम इलाकों में भी गुपचुप घुसपैठ कर सकते हैं। यही कारण है कि सेना में इनका इस्तेमाल बढ़ने लगा है।ड्रोन हमले दो प्रकार से संभव हैं। एक तरीका ये है कि ड्रोन में हथियार या विस्फोटक लगा दिए जाते हैं और ड्रोन इन हथियारों या विस्फोटक को लक्ष्य पर ड्रॉप कर देता है। ड्रोन से हमले का दूसरा तरीका है ड्रोन को खुद ही एक विस्फोटक में बदल दिया जाए। 

कितने घातक हो सकते हैं ड्रोन हमले?
ये ड्रोन के प्रकार और पेलोड पर निर्भर है। पेलोड मतलब ड्रोन कितना वजन अपने साथ लेकर उड़ सकता है। ड्रोन की पेलोड क्षमता जितनी ज्यादा होगी वो अपने साथ उतनी ज्यादा मात्रा में विस्फोटक सामग्री लेकर उड़ सकता है। अमेरिका के MQ-9 रीपर ड्रोन अपने साथ 1700 किलो तक वजन ले जाने में सक्षम हैं।

ड्रोन से अबतक के बड़े हमले
2020 में अमेरिका ने ईरानी मेजर जनरल सुलेमानी को मार गिराया था। इससे पहले 2019 में यमन के हूती विद्रोहियों ने साऊदी अरब की अरामको ऑयल कंपनी पर ड्रोन हमला किया था। पाकिस्तान के वजीरिस्तान में 2009 के दौरान एक ड्रोन हमले में 60 लोग मारे गए थे।

देश में ड्रोन्स के इस्तेमाल को लेकर गाइडलाइन्स 
देश में नागरिक उड्डयन मंत्रालय(Ministry of Civil Aviation) ने ड्रोन उड़ाने पर कई तरह के प्रतिबंध लगा रखे हैं। ड्रोन के वजन और साइज के अनुसार इन प्रतिबंधों को कई वर्ग में बांटा गया है।

1.नेनो ड्रोन्स- इसको उड़ाने के लिए लाइसेंस की आवश्यकता नहीं पड़ती।

2.माइक्रो ड्रोन्स- इसको उड़ाने के लिए UAS Operator Permit-I से अनुमति लेनी पड़ती है और ड्रोन पायलट को SOP(Standard operating procedure) का पालन करना होता है। 

इनसे बड़े ड्रोन उड़ाने के लिए डीजीसीए से परमिट(लाइसेंस ) की आवश्यकता होती है। अगर आप किसी प्रतिबंधित जगह पर ड्रोन उड़ाना चाहते हैं तो इसके लिए भी आपको डीजीसीए से अनुमति लेनी पड़ेगी। बिना अनुमति के ड्रोन उड़ाना गैरकानूनी है और इसके लिए ड्रोन ऑपरेटर पर भारी जुर्माने का भी प्रावधान है।

ड्रोन उड़ाने के लिए प्रतिबंधित जगह

  • मिलिट्री एरिया के आसपास या रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण इलाका।
  • इंटरनेशनल एयरपोर्ट के 5 किलोमीटर और नेशनल एयरपोर्ट के 3 किलोमीटर का दायरा।
  • इंटरनेशनल बॉर्डर के 25 किलोमीटर का दायरा ।
  • इसके अलावा ड्रोन की कैटेगरी को मद्देनजर रखते हुए इन्हें कितनी ऊंचाई तक उड़ाया जा सकता है वो भी निर्धारित है।

ड्रोन उड़ाने के लिए जरूरी हैं लाइसेंस
नैनो ड्रोन्स को छोडकर किसी भी तरह के ड्रोन्स को उड़ाने के लिए लाइसेंस या परमिट की जरूरत पड़ती है।ड्रोन उड़ाने के लिए लाइसेंस दो कैटेगरी के अंतर्गत दिए जाते हैं, जिसमें पहला है स्टूडेंट रिमोट पायलट लाइसेंस और दूसरा है रिमोट पायलट लाइसेंस।इन दोनों लाइसेंस को प्राप्त करने के लिए ड्रोन ऑपरेटर की न्यूनतम उम्र 18 साल और अधिकतम 65 साल होनी चाहिए। लाइसेंस के लिए ऑपरेटर कम से कम 10वीं पास या 10वीं क्लास के बराबर उसके पास किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से डिग्री होना अति आवश्यक हैं।आवेदन करने वाले व्यक्ति को डीजीसीए स्पेसिफाइड मेडिकल एग्जामिनेशन भी पास करना जरूरी है। लाइसेंस के लिए बैकग्राउंड भी चेक होता है।

जुर्माने का प्रावधान

  • बिना लाइसेंस उड़ाने पर 25000 रुपए का जुर्माना।
  • नो-ऑपरेशन जोन यानी प्रतिबंधित क्षेत्र में उड़ान भरने पर 50000 रुपए का जुर्माना।
  • ड्रोन का थर्ड पार्टी बीमा ना होने पर 10000 रुपए का जुर्माना लग सकता है।