comScore

B'Day: लता के जन्मदिन पर मोदी ने कही ये बात, बहन आशा ने दी बधाई, महाराष्ट्र सरकार बनाएगी संगीत महा विद्यालय

B'Day: लता के जन्मदिन पर मोदी ने कही ये बात, बहन आशा ने दी बधाई, महाराष्ट्र सरकार बनाएगी संगीत महा विद्यालय

डिजिटल डेस्क, मुंबई। इतिहास में आज का दिन स्वर कोकिला लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) के जन्मदिन के तौर पर दर्ज है। अपनी मधुर आवाज से पिछले कई दशक से संगीत के खजाने में नए मोती भरने वाली लता मंगेशकर का जन्दम 28 सितंबर 1929 को इंदौर में मशहूर संगीतकार दीनानाथ मंगेशकर के यहां हुआ। वे आज अपना 91वां जन्मदिन मना रही हैं। 

उनके इस जन्मदिन के अवसर पर देश दुनिया से लोग उन्हें शुभकामनाएं दे रहे हैं। इस मौके पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और लता मंगेशकर की बहन आशा भोसले ने भी अपनी बहन को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी हैं।

सावन में लग गई आग 'वेडिंग एंथम' के लिए एक साथ आए मीका सिंह, नेहा कक्कड़ और बादशाह

पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लता मंगेशकर को शुभकामनाएं देते हुए ट्वीट किया, ''आदरणीय लता दीदी से बात की और उन्हें जन्मदिवस की शुभकामनाएं दी। उनके दीर्घायु एवं स्वस्थ जीवन की कामना करता हूं। लता दीदी पूरे देश में घर-घर में पहचाना जाने वाला नाम है। हमेशा ही उनका दुलार और आशीर्वाद मिला जिससे मैं स्वयं को सौभाग्यशाली महसूस करता हूं।''

गृहमंत्री ने दी बधाई
गृहमंत्री अमितशाह ने शुभकामनाएं देते हुए लिखा, स्वर, संस्कार और सादगी की अद्भुत संगम आदरणीय @mangeshkarlata दीदी को जन्मदिन की शुभकामनाएँ।

बहन ने दी बधाई
वहीं लता मंगेश्कर की बहन आशा भोसले ने एक तस्वीर साझा करते हुए लिखा, लता दीदी को 91 वें जन्मदिन की बधाई। यह तस्वीर हमारे बचपन के दिनों की याद दिलाती है जिसमें दीदी को बाईं ओर बैठे हुए देखा जा सकता है और मीना ताई और मैं उनके पीछे खड़े दिखाई दे रहे हैं।  

1,000 से ज्यादा गीत
बता दें कि लता ने अपनी आवाज और अपनी सुर साधना से बहुत छोटी उम्र में ही गायन में महारत हासिल की और विभिन्न भाषाओं में गीत गाए। उन्होंने 36 भारतीय भाषाओं में गाने रिकॉर्ड कराए हैं। लता मंगेशकर ने केवल हिंदी भाषा में 1,000 से ज्यादा गीतों को अपनी आवाज दी है। 

मीका के सावन में लग गई आग को रीक्रिएट कर रहीं पायल

इन अवॉर्ड से नवाजा गया
लता मंगेशकर ने अपने सात दशक लंबे करियर में अपने-अपने समय के लगभग सभी महान संगीतकारों और फिल्म निर्माता-निर्देशकों के साथ काम किया है। लता मंगेशकर को 2001 में भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'भारत रत्न' दिया गया था। इससे पहले 1989 में उन्हें दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।

मंगेशकर के नाम पर बनेगा संगीत महा विद्यालय

मुंबई में मास्टर दिनानाथ मंगेशकर शासकीय संगीत महाविद्यालय शुरू किया जाएगा। यह अंतरराष्ट्रीय दर्जे का देश का पहला संगीत महाविद्यालय होगा। सोमवार को सुर साम्राज्ञी तथा भारतरत्न लता मंगेशकर के जन्मदिन के मौके पर प्रदेश के उच्च व तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने यह घोषणा की। सामंत ने कहा कि महाविकास आघाड़ी सरकार की ओर से लता दीदी को जन्मदिन पर भेंट के रूप में यह फैसला लिया गया है। सरकार का यह फैसला निश्चित रूप से उन्हें पंसद आएगा। सामंत ने कहा कि नई पीढ़ी के गायक और संगीतकार तैयार करने के लिए अंतरराष्ट्रीय दर्जे का देश का पहला संगीत महाविद्यालय जल्द ही मुंबई में शुरू होगा। सामंत ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के मार्गदर्शन और राज्य के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे की पहल पर यह महाविद्यालय तैयार होगा। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि इस महाविद्यालय के माध्यम से मंगेशकर परिवार के संगीत क्षेत्र की परंपरा को आगे ले जाते हुए उनके मार्गदर्शन में अनेक गायक, वादक और संगीत क्षेत्र में काम करने के लिए इच्छुक कलाकार तैयार होंगे।

उषा मंगेशकर को लता पुरस्कार 

महाराष्ट्र सरकार की ओर से साल 2020-21 का सुर सम्राज्ञी लता मंगेशकर पुरस्कार वरिष्ठ गायिका उषा मंगेशकर को दिया जाएगा। सोमवार को प्रदेश के सांस्कृतिक कार्य मंत्री अमित देशमुख ने यह घोषणा की। सरकार के सांस्कृतिक कार्य विभाग की ओर से सुर सम्राज्ञी लता मंगेशकर पुरस्कार उषा मंगेशकर को दिया जाएगा। पुरस्कार के रूप में 5 लाख रुपए, सम्मानपत्र, स्मृतिचिन्ह प्रदान किया जाएगा। मंत्री देशमुख की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने सर्वसहमति से साल 2020-21 के पुरस्कार के लिए यह फैसला किया है। उषा ने मराठी, हिंदी समेत अनेक भाषाओं में सैकड़ों गाने गाए हैं। 
 

कमेंट करें
rQdJn
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।