comScore

सॉन्ग: सावन में लग गई आग 'वेडिंग एंथम' के लिए एक साथ आए मीका सिंह, नेहा कक्कड़ और बादशाह


डिजिटल डेस्क, मुंबई। भारत के तीन सबसे बड़े हिटमेकर्स जब एक साथ आ जाएं तो आप डांस फ्लोर पर थिरकने से खुद को रोक नहीं पाएंगे। गायक-संगीतकार मीका सिंह द्वारा गाए गए पॉपुलर सॉन्ग सावन में लग गई आग...का ट्विस्ट के साथ ऑफिशियल रीमेक किया गया है। यह 28 सितंबर को रिलीज किया जाएगा।

सोनी म्यूजिक इंडिया द्वारा प्रस्तुत इस गाने को मीका सिंह और पायल देव ने कंपोज किया है। मीका सिंह, पायल देव, बादशाह, मोहसिन शेख द्वारा लिखित इस गाने को मीका,बादशाह और नेहा कक्कड़ ने आवाज दी है।  

धर्मा प्रोडक्शन के क्षितिज प्रकाश गिरफ्तार

इस फिल्म में सॉन्ग
फिल्म गिन्नी वेड्स सनी के लिए मीका सिंह, आइकॉनिक रैपर बादशाह, बॉलीवुड चार्टबस्टर क्वीन नेहा कक्कड़ एक साथ मिलकर श्रोताओं/ दर्शकों के लिए वेडिंग पार्टी एंथम लेकर आ रहे हैं जिसका नाम है 'सावन में लग गई आग'। फिल्म के म्यूजिक पार्टनर सोनी म्यूजिक इंडिया ने इस गाने का स्नीक पीक आज रिलीज कर लोगों का उत्साह बढ़ा दिया है। 

इस सॉन्ग को खुद मीका सिंह और पायल देव ने कंपोज किया है, मीका, पायल देव, बादशाह और मोहसिन शेख ने लिखा है। इस गाने को मीका, बादशाह और नेहा कक्कड़ ने अपनी आवाज दी है।

वेडिंग पार्टी सॉन्ग
सोनी म्यूजिक इंडिया के सीनियर डायरेक्टर - मार्केटिंग, सानुजीत भुजबल कहते हैं, "सावन में लग गई आग एक क्विंटसेशनल वेडिंग पार्टी सॉन्ग है, जो लोगों को डांस फ्लोर पर जाने के लिए मजबूर कर देगा। इस गाने के जरिए हम इन तीन पॉपुलर म्यूजिक आइकन्स को पहली बार एक साथ लाकर बहुत खुश हैं। यह ट्रैक एनर्जी से भरपूर है, और हम उम्मीद करते हैं कि यह सब का पसंदीदा पार्टी सोंग जरूर बनेगा।"

मशहूर गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

म्यूजिक कंपोजर पायल देव कहती हैं, "मीका सिंह, बादशाह और नेहा कक्कड़ के साथ इस मजेदार ट्रैक के लिए काम करना बहुत ही अद्भुत रहा। इस गाने को प्रस्तुत करने वाले तीनों कलाकारों ने इस गाने को अपने स्पर्श से अनोखा बना दिया है, जिसकी वजह से यह एक पार्टी नंबर बन सकता है। गाने की रिलीज को लेकर मैं बहुत उत्साहित हूं। यह गाना मनोरंजन से भरपूर है।"

संगीतकार, लेखक और गायक मीका सिंह कहते हैं कि, " इस सॉन्ग का स्नीक पीक श्रोताओं के लिए पार्टी इन्विटेशन है। सावन में लग गई आग इस गाने के लिए मैं इन प्रतिभाशाली कलाकारों के साथ काम कर के बेहद खुश हूं। इस गाने से जुड़े सभी लोग यही चाहते हैं कि श्रोता इस गाने का मजा लें और इसे पसंद करें। मुझे इस गाने के रिलीज होने का बेसब्री से इंतजार है।"

कमेंट करें
FGDvO
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।