दैनिक भास्कर हिंदी: ममता बनर्जी की बायोपिक का ​ट्रेलर बैन, ममता ने ट्वीट कर कहा- बायोपिक से नहीं कोई संबंध

April 25th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। बॉलीवुड इंडस्ट्री में बायोपिक ट्रेंड खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। बायोपिक को लेकर लगातार हो रहे विवादों के बाद भी, हर बार कोई नई बायोपिक सामने आ जाती है और ट्रोल हो जाती है। पीएम नरेंद्र मोदी की बायोपिक के बाद ममता बनर्जी की बायोपिक पर भी चुनाव आयोग ने रोक लगा दी है। बता दें ममता बनर्जी की बायोपिक का नाम 'बाघिनी' है, जिसका हालही में ट्रेलर रिलीज किया गया। ट्रेलर पर चुनाव आयोग ने रोक लगा दी है। 

फिल्म को लेकर चुनाव आयोग ने कहा कि इसने CBFC से सर्टिफिकेट नहीं लिया है। सेंसर बोर्ड ने तीन वेबसाइट्स से फिल्म का ट्रेलर हटाने के लिए कहा है। इसके अलावा चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल के CEO से रिपोर्ट मांगी है। इस रिपोर्ट के बाद ही चुनाव आयोग फिल्म का ट्रेलर देखेगा। फिल्म का ट्रेलर देखकर चुनाव आयोग ने तीनों वेबसाइट्स से कहा कि इससे आयोग के निर्देशों का उल्लघंन हुआ है। आयोग ने कहा कि फिल्म को अभी तक सेंसर बोर्ड फॉर फिल्म सर्टिफिकेशन से पास नहीं किया गया है और बावजूद इसके इसका ट्रेलर दिखाया जा रहा था। इस बारे में आयोग को शिकायत मिली थी जिस पर कार्रवाई हुई है।

बता दें पीएम मोदी की बयोपिक के बाद चुनाव आयोग ने अपने आदेश में कहा था कि कोई भी बायोपिक फिल्म जो किसी राजनीतिक दल और राजनेता का गुणगान करती है उसे बायोग्राफी या हैजियोग्राफी के रूप में रिलीज नहीं किया जाए। चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक फिल्म "पीएम नरेंद्र मोदी" को रिलीज के ठीक एक दिन पहले बैन कर दिया था। इसके साथ ही आयोग ने ये निर्देश जारी किए थे। इतना ही नहीं पीएम मोदी पर बनी वेब सीरीज Modi-Journey of a Common Man को भी बैन कर दिया है।

अपनी बयोपिक बैन होने पर ममता बनर्जी ने कहा कि इस बायोपिक से उनका कोई संबंध नहीं है। ममता ने ट्वीट कर बताया कि "ये सब क्या बकवास फैलाई जा रही है। मेरा बायोपिक से कोई भी लेना देना नहीं है। यदि कुछ युवा कोई जानकारी एकत्र करके कुछ फैला रहे हैं तो ये उनका निजी मामला है। हमसे कोई संबंध नहीं है। मैं नरेंद्र मोदी नहीं हूं। कृपया झूठ फैलाकर मुझे मानहानि केस दर्ज करने के लिए मजबूर मत करो।"

 

खबरें और भी हैं...