comScore

ह्यूमर खुद को बयां करने का एक स्वाभाविक तरीका है: ऋचा चड्ढा

ह्यूमर खुद को बयां करने का एक स्वाभाविक तरीका है: ऋचा चड्ढा

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। फिल्म फुकरे में अभिनेत्री ऋचा चड्ढा की कॉमिक टाइमिंग ने लोगों ने खूब हंसाया था। उनका कहना है कि ह्यूमर (हंसी-मजाक) खुद को बयां करने का एक काफी ऑर्गेनिक और स्वाभाविक तरीका है। ऋचा अब कॉमिक शो वन माइक स्टैंड में आकर ह्यूमर के प्रति अपने प्यार को एक दूसरे स्तर पर ले जाना चाहती हैं। इस शो के लिए ऋचा ने कॉमेडियन सपन वर्मा और आशीष शाक्या से सलाह ली है।

ऋचा ने कहा कि मुझे लोगों को हंसते देखना अच्छा लगता है। यह सोचकर ही काफी खुशी मिल रही है कि मंच पर खड़े होकर आपको अपने शब्दों से सबको हंसाना है। बता दूं कि ऐसा कर पाना बहुत ही संतोषजनक एहसास है। ऋचा का कहना है कि 'मेरे लिए हंसी-मजाक खुद को बयां करने का एक काफी ऑर्गेनिक और स्वाभाविक तरीका है। खुद को बयां करने के लिए मुझे बहुत संघर्ष करना पड़ता था क्योंकि लोगों का मानना था कि मैं एक गंभीर इंसान हूं, तो यह काफी कन्फ्यूजिंग रहा, यह एक बेहतरीन प्रयोग रहा, लेकिन इसके बाद मैंने अपने करियर में ऐसा नहीं किया।'

कमेंट करें
ABc8U