आर्यन ड्रग्स केस: आर्यन केस में नया खुलासा NCB के 'प्राइवेट डिटेक्‍ट‍िव ' पर पहले से हैं 4 मामले दर्ज 

October 8th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। आर्यन खान ड्रग्स केस में हर रोज एक नई कहानी सामने कर आ रही है। बताया जा रहा है कि 02 अक्टूबर को क्रूज शिप पर हुई छापेमारी में कथित तौर पर बीजेपी के 2 कार्यकर्ता मनीष भानुशाली और NCB के प्राइवेट डिटेक्टिव किरण गोसावी के तार जुड़ते दिखाई दे रहे हैं। इन दोनों की सूचना पर ही NCB ने 2 अक्टूबर को क्रूज शिप पर रेड मारी थी, सूचना दी गई थी कि वहां ड्रग पार्टी का आयोजन किया गया है, जिसके बाद आर्यन सहित 8 लोगों को NCB द्वारा गिरफ्तार किया गया था।

थामा एनसीबी का हाथ
एनसीबी द्वारा बताया गया है कि मनीष भानुशाली और किरण गोसावी को उनके स्वतंत्र गवाह के तौर पर रखा गया है। आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद ही किरण गोसावी और आर्यन की एक सेल्फी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी। इसके बाद से ही गोसावी चर्चा का विषय बने हुए हैं। इसमें एक और चौंकाने वाली बात सामने आई है कि एनसीबी के 'स्वतंत्र गवाह' गोसावी पर 4 केस पहले से दर्ज हैं, 2018 के एक धोखाधड़ी केस के तहत पुणे में उस पर एफआईआर दर्ज है और वह पुलिस से अब तक छुपता फिर रहा था।

Man in picture with Aryan Khan not NCB officer, Nawab Malik reveals details  | english.lokmat.com

नवाब मलिक ने किया खुलासा
एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मलिक द्वारा कुछ दिन पहले खुलासा किया गया था मनीष भानुशाली और किरण गोसावी के तार बीजेपी से जुड़े हैं। यहीं नहीं मलिक ने अपने खुलासे में यह भी बताया की गोसावी के एनसीबी के अधिकारियों के साथ भी अच्छे रिश्ते हैं। वहीं आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद ही गोसावी को एनसीबी के अधिकारियों के साथ देखा गया था।

गोसावी पर पहले से  4 केस 
गोसावी पर अब तक कुल 4 मामलों में केस दर्ज है, सबसे पहला केस 2007 में मुंबई के अंधेरी पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया था, 2015 और 2016 में एक-एक केस ठाणे के कपूरबावडी पुलिस स्टेशन में दर्ज है और 2018 में पुणे के फारसखाना पुलिस स्टेशन में। 2018 में एफआईआर दर्ज कराने वाले चिन्मय देशमुख ने गोसावी पर आरोप लगाया है कि गोसावी ने मलेशिया में नौकरी दिलाने के झांसे में उन से 3.09 लाख रुपये की ठगी की है।

खबरें और भी हैं...