comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

आखिरकार रिया को जमानत मिली, शोविक को राहत नहीं (लीड-2)

October 07th, 2020 17:30 IST
 आखिरकार रिया को जमानत मिली, शोविक को राहत नहीं (लीड-2)

हाईलाइट

  • आखिरकार रिया को जमानत मिली, शोविक को राहत नहीं (लीड-2)

मुंबई, 7 अक्टूबर (आईएएनएस)। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग कनेक्शन को लेकर गिरफ्तार अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को बॉम्बे हाईकोर्ट ने बुधवार को एक लाख रुपये के मुचलके पर सशर्त जमानत दे दी। उनके वकील सतीश मानशिंदे ने यहां यह जानकारी दी।

न्यायमूर्ति एस.वी. कोतवाल, जिन्होंने पिछले 29 सितंबर को जमानत अर्जी संबंधी सुनवाई पूरी की थी, उन्होंने बुधवार सुबह फैसला सुनाया।

कोर्ट ने रिया को एक लाख रुपये और दीपेश सावंत और सैमुअल मिरांडा को 50,000 रुपये के मुचलके पर जमानत दी।

हालांकि, न्यायाधीश कोतवाल ने शोविक चक्रवर्ती और अब्दुल बासित परिहार की जमानत याचिका को खारिज कर दिया।

पांचों आरोपियों ने हाईकोर्ट से जमानत मांगी थी क्योंकि विशेष एनडीपीएस अदालत ने पिछले महीने उनकी अर्जी खारिज कर दी थी।

वे बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की ड्रग एंगल जांच के सिलसिले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) द्वारा गिरफ्तार किए गए 20 लोगों में से थे।

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) द्वारा 8 सितंबर की देर रात ड्रग से संबंधित मामले में गिरफ्तार किए जाने के बाद, रिया ने 28 दिन हिरासत में बिताए हैं। उन्हें मंगलवार को एक विशेष एनडीपीएस अदालत ने 20 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

एनसीबी की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर-जनरल अनिल सिंह ने आदेश के क्रियान्वयन पर रोक की मांग की लेकिन न्यायमूर्ति कोतवाल ने इसे अस्वीकार कर दिया।

रिया और शोविक के वकील मानशिंदे, और अन्य सह-अभियुक्तों राजेंद्र राठौड़, तारिक सैयद और सुबोध देसाई के वकीलों ने अपने मुव्वकिलों की जमानत के लिए जोरदार ढंग से दलील पेश की।

अन्य बातों के अलावा, उन्होंने दावा किया कि एनसीबी के पास इस मामले की जांच करने का अधिकार नहीं है, जो कि 19 अगस्त के सुप्रीम कोर्ट के आदेश को देखते हुए सुशांत मामले में सभी जांच सीबीआई को सौंपने का निर्देश देता है। उन्होंने कहा कि एनसीबी द्वारा गिरफ्तार आरोपी जमानत पाने के हकदार हैं।

बचाव पक्ष के वकीलों की दलीलों पर पलटवार करते हुए, सिंह ने कहा कि एनसीबी के पास जांच का अधिकार क्षेत्र है और यह साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत हैं कि आरोपी एक बड़े नारकोटिक्स सिंडिकेट का हिस्सा थे।

कोर्ट के आदेश का स्वागत करते हुए, मानशिंदे ने कहा, सच्चाई और न्याय की जीत हुई है।

उन्होंने कहा, रिया की गिरफ्तारी और हिरासत पूरी तरह से अनुचित थी। तीन केंद्रीय एजेंसियों - सीबीआई, ईडी और एनसीबी - रिया के पीछे पड़ गई थी और अब यह सब खत्म होना चाहिए। हम सच्चाई के लिए प्रतिबद्ध हैं। सत्य मेव जयते।

रिया की जमानत के लिए सूचीबद्ध शर्तो में एनसीबी को उनका पासपोर्ट जमा करना, 10 दिनों के लिए स्थानीय पुलिस स्टेशन को प्रतिदिन रिपोर्ट करना, एनसीबी को सूचित किए बिना मुंबई नहीं छोड़ना आदि शामिल हैं।

इसी तरह, सावंत और मिरांडा को भी शर्तो के अनुसार अपने पासपोर्ट जमा करने के लिए कहा गया है।

सुशांत की मौत और ड्रग मामले में रिया और शोविक के अलावा सितंबर के अंत तक गिरफ्तार किए गए अन्य लोग हैं -- दीपेश सावंत, सैमुअल मिरांडा, अब्बास लखानी, करण अरोरा, जैद विलात्रा, अब्दुल बासित परिहार, कैजान इब्राहिम, अनुज केसवानी, अंकुश अरनेजा, कमरजीत सिंह आनंद, संकेत पटेल, संदीप गुप्ता, आफताब अंसारी, ड्वेन फर्नांडिस, सूर्यदीप मल्होत्रा, क्रिस कोस्टा, राहिल विश्राम और क्षितिज आर. प्रसाद।

अभियुक्तों में से कुछ को जमानत मिल गई है, अन्य अलग-अलग अवधि के लिए हिरासत में हैं क्योंकि एनसीबी की जांच कई अन्य अभिनेत्रियों से पूछताछ के साथ जारी है।

वीएवी-एसकेपी

कमेंट करें
fgiS2
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।