दैनिक भास्कर हिंदी: रूमी जाफरी की फिल्म में एक साथ नजर आने वाले थे सुशांत-रिया

August 12th, 2020

हाईलाइट

  • रूमी जाफरी की फिल्म में एक साथ नजर आने वाले थे सुशांत-रिया

नई दिल्ली, 12 अगस्त (आईएएनएस)। मरहूम सुशांत सिंह राजपूत के पूर्व रसोइए (कुक) का कहना है कि सुशांत और उनकी प्रेमिका रिया चक्रवर्ती लेखक-अभिनेता रूमी जाफरी के एक आगामी प्रोजेक्ट में साथ काम करने वाले थे। सुशांत के रसोइए अशोक कुमार खासू का यह बयान इसलिए खास है क्योंकि रिया और रूमी के बीच करीब 230 बार बातचीत हुई है।

आईएएनएस के पास रिया का कॉल रिकार्ड है, जिससे यह खुलासा हुआ है कि रिया ने रूमी से 230 बार बात की है, जिसमें रिया ने रूमी को 162 बार फोन किया और 61 बार रूमी का फोन रिया के पास आया है। इन दोनों के बीच सात बार एसएमएस का भी आदान-प्रदान हुआ था और हर बार एसएमएस रूमी की ओर से ही आया था।

2016 से 2019 तक सुशांत के साथ काम करने वाले कुक अशोक भी मानते हैं कि रूमी और रिया की अक्सर बातचीत होती थी। रिया के सुशांत के जीवन में आने के बाद अशोक ने पांच महीने दोनों के साथ बिताए थे।

रूमी ने भी बीते दिनों कहा था कि यह कहना कि सुशांत के पास कोई काम नहीं था, उस प्रतिभाशाली अभिनेता के साथ अन्याय होगा। सुशांत के अच्छे दोस्त माने जाने वाले रूमी ने कहा था सुशांत स्टार था और हमेशा स्टार रहेगा। रूमी ने इस बात का खंडन भी किया था कि सुशांत डिप्रेशन का शिकार थे क्योंकि उनकी दलील यह भी है सुशांत उनके एक प्रोजेक्ट में काम करने वाले थे लेकिन कोरोना के कारण इस फिल्म में विलम्ब हो गया।

रूमी का बयान सुशांत के पूर्व कुक अशोक के बयान से मैच करता है क्योंकि अशोक ने भी आईएएनएस से खास बातचीत में कहा कि, सुशांत सर के पास काम था। उनके पास काम की कमी नहीं हो सकती थी। मैं जब तक उनके पास था तब तक रूमी सर के साथ उनकी बातचीत होती थी। रिया मैडम के साथ भी बातचीत होती थी। मुझे जितना समझ में आया, दोनों रूमी जाफरी की एक फिल्म में साथ नजर आने वाले थे।

अशोक ने कहा, मैं जब तक सुशांत सर के साथ था तब तक रूमी कभी सुशांत सर के घर नहीं आए लेकिन तीनों के बीच खूब बातचीत होती थी। सुशांत सर के घर वैसे तो उनके तथा रिया मैडम के दोस्त आते थे लेकिन फिल्म से जुड़े लोग भी अक्सर आया करते थे। श्रृद्धा कपूर और संजना सांघी भी आया करती थीं। कास्टिंग और फिल्म निर्देशक मुकेश छाबड़ा आते थे। और कई लोग थे लेकिन अभी मुझे इनका नाम याद नहीं आ रहा है।

जेएनएस-एसकेपी