दैनिक भास्कर हिंदी: समस्तीपुर में भीषण सड़क हादसा, 10 की मौत, 4-4 लाख मुआवजे का ऐलान

March 11th, 2018

डिजिटल डेस्क, समस्तीपुर। बिहार के समस्तीपुर जिले में एक भयानक सड़क हादसे में 10 लोगों की जान चली गई। वहीं 3 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों का स्थानीय हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है। रविवार शाम तेज रफ्तार ट्रक और ऑटो के टकराने से ये भीषण हादसा हुआ। हादसे कितना भयानक था इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हदासे के बाद ऑटो के परखच्चे उड़ गए और कई शव सड़क पर बिखर गए।  हादसे की जानकारी मिलने के बाद स्थानीय विधायक और पुलिस के आला अधिकारी अस्पताल पहुंचे।

ऐसे हुआ हादसा
रविवार शाम करीब 04.30 बजे का वक्त था।  समस्तीपुर की ओर से यात्रियों से भरा ऑटो मुसरीघरारी की ओर जा रहा था। ऑटो ओवरलोडेड था, इसमे 13 पैसेंजर सवार थे। जैसे ही ऑटो हरपुर एलौथ में डीएवी स्कूल के पास पहुंचा एक तेज रफ्तार ट्रक ने ऑटो को टक्कर मार दी। इस भयानक हादसे में ऑटो के परखच्चे उड़ गए। सड़क पर चीख-पुकार मच गई। शव कचरे की तरह सड़क पर बिखर गए। आस-पास मौजूद लोगों ने घायलों को ऑटो से बाहर निकाला तब तक पुलिस भी वहां पहुंच चुकी थी। 13 में से चार लोगों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया जबकि अन्य घायलों यात्रियों को स्थानीय अस्पताल में पहुंचाया गया। जहां पर 6 और लोगों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। मृतकों में पांच महिलाएं, दो पुरुष और 2 बच्चे हैं। इस दौरान ट्रक ड्राइवर वहां से फरार हो गया। हादसे के बाद गुस्साई भीड़ ने सड़क जाम कर दी। जिसके बाद पुलिस ने लोगों को समझाइश देकर रोड जाम हटाया।

अस्पताल में विधायक और अफसरों का जमावड़ा
जिस अस्पताल में घायलों का इलाज चल रहा है वहां पर विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहिन, एसपी दीपक रंजन, डीडीसी वरुण कुमार मिश्रा, एसडीओ अशोक कुमार मंडल, डीएसपी तनवीर अहमद के अलावा पांच-छह थानों की पुलिस जमी है। मृतकों में एक की पहचान जितवारपुर कुम्हिया निवासी ऑटो चालक मिंटू चौधरी के रूप में हुई है। अन्य मृतकों की पहचान में पुलिस जुटी है। समस्तीपुर के डीडीसी वरुण मिश्रा ने कहा कि घटना हृदय विदारक है। जांच के आदेश दे दिये गये हैं। मृतकों की पहचान की कोशिश जारी है। जिला प्रशासन की ओर से चार - चार लाख रुपये मृतकों के परिजनों को अनुग्रह राशि दी जायेगी। सदर एसडीओ एके मंडल व अन्य प्रशासनिक पदाधिकारी सदर अस्पताल पहुंच कर घायलों की चिकित्सा में हर संभव मदद के लिए कमर कस कर जुटे रहे। लाश की पहचान नहीं होने के कारण सभी शवों को सदर अस्पताल के अंत्यपरीक्षण कक्ष में सुरक्षित रखा गया है।

नीतीश कुमार ने व्यक्त की संवेदना
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों की  मौत पर गहरा दुख एवं संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह घटना काफी दुखद है। मुख्यमंत्री ने शोक संतप्त परिवारों को दुख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से र्प्राथना की है। मुख्यमंत्री ने इस हादसे में मृतकों के परिजनों कों 4-4 लाख रुपये अनुग्रह अनुदान अविलंब देने का निर्देश दिया है।  हादसे में घायल हुए लोगों के समुचित इलाज का भी निर्देश दिया है और घायल लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की है।