दैनिक भास्कर हिंदी: बिजली समस्या से जूझ रहे हैं गड़चिरोली के 126 गांव

March 22nd, 2019

डिजिटल डेस्क, गड़चिरोली। एक ओर राज्य में बिजली विभाग द्वारा विभिन्न योजनाएं चलाकर आम जनता को नियमित बिजली सुविधा दिलाने का ढिंढोरा पीट रही हैं। वहीं आदिवासी बहुल गड़चिरोली जिले के 126 गांवों को सिंगल फेज डीपी से ही बिजली आपूर्ति की जा रही है। सिंगल फेज बिजली के कारण एक बार बिजली गुल होने पर 2 से 3 दिनों तक यह समस्या बनी रहती है, जिससे ग्रामीणों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

जिले में अनेक गांव हैं, जिन गांवों में अब तक बिजली नहीं पहुंची है। वहीं कुछ गांवों में बिजली के खंभे तो पहुंच गए हैं, लेकिन बिजली आपूर्ति नहीं होने के कारण वह जंग खा रहे हैं। इसी तरह एटापल्ली तहसील के जवेली गांव में अब तक बिजली नहीं पहुंच पायी है। इस कारण इस गांव के नागरिकों को बारह माह अंधेरे में रहना पड़ रहा है। प्रशासन और बिजली विभाग ऐसे गांवों की समस्या की ओर गंभीरता से ध्यान देकर इन गांवोंं में तत्काल बिजली आपूर्ति सुचारु करने की मांग स्थानीय गांववासियों द्वारा की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि गड़चिरोली में करीबन 1 हजार 668 गांव हैं। इनमें से सैकड़ों गांवों में अब तक बिजली आपूर्ति शुरू नहीं की गई, जिससे इन गांवों के नागरिकों के घरों में अब तक उजाला नहीं हुआ है। जिसके चलते नागरिकों को दीए के उजाले में रात बितानी पड़ रही हैं। बता दें कि 10 वर्ष पूर्व गांव की जनसंख्या कम होने से बिजली विभाग ने करीबन 200 गांवों को सिंगल फेज जोड़कर बिजली आपूर्ति की थी। 10 वर्ष पहले बिजली का उपयोग भी काफी कम होने से सिंगल फेज से ही काम चल रहा था, लेकिन वर्तमान में प्रत्येक घर में टीवी, पंखा, कूलर का उपयोग किया जा रहा है। ऐसे में बिजली की मांग बढ़ गई है। इसी तरह किसानों को अनुदान पर सरकार की ओर से कुओं पर निर्माण कर दिया गया। उस पर अनुदान पर ही कृषिपंप पर उपलब्ध करा दिए गए। गांंवों में सिंगल फेज से बिजली आपूर्ति किए जाने से उक्त कृषि पंप शुरू ही नहीं होने से शोपीस बनकर पड़े हैं।

गौरतलब है कि, केंद्र सरकार ने राजीव गांधी योजना अंतर्गत बीपीएलधारकों को मात्र 15 रुपए में बिजली कनेक्शन देने की योजना कार्यान्वित की। इस योजना के तहत प्रत्येक घर में बिजली कनेक्शन दिए गए, जिससे बिजलीधारकों की संख्या अपने आप बढ़ गई। जिले के अहेरी, मूलचेरा, चामोर्शी, एटापल्ली, भामरागढ़ व सिरोंचा आदि तहसीलों के सर्वाधिक गांवों में सिंगल फेज से बिजली आपूर्ति की जाती है। 

हालांकि कुछ दिनों में सिंगल फेज की बिजली आपूर्ति थ्री-फेज में बदलने की नीति बिजली कंपनी ने शुरू की है, लेकिन थ्री-फेज में बदलने का कार्य कछुआ गति से चल रहा है। इस ओर बिजली विभाग ध्यान देकर सभी सिंगल फेज गांवों में थ्री-फेज बिजली आपूर्ति करने की मांग नागरिकों द्वारा की जा रही है। 

खबरें और भी हैं...