दैनिक भास्कर हिंदी: 14,473 कामगारों को 2-2 हजार का इंतजार

June 14th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। इमारत व अन्य बांध काम कामगार कल्याणकारी मंडल (बीआेसीडब्ल्यू बोर्ड) की आेर से लॉकडाउन के दौरान जिले में अब तक 48691 कामगारों को 2-2 हजार की सहायता निधि दी गई है, जबकि अभी भी 14473 कामगारों को निधि का इंतजार है। जिले में 63164 पंजीकृत कामगार हैं।  निर्माणकार्य से जुड़े कामगारों व उनके परिजनों के कल्याण के लिए मंडल की स्थापना की गई है। 2014 में कामगारों का पंजीयन शुरू हुआ, लेकिन पंजीयन को गति 2018 में मिली। जिले में  63164 पंजीकृत कामगार हैं। लाॅकडाउन के कारण कामगारों पर भुखमरी न आए, इसलिए मंडल की तरफ से पंजीकृत कामगारों के खाते में 2-2 हजार रुपए डाले जा रहे हैं। जिले में अभी तक 48691 कामगारों के बैंक खाते में 2-2 हजार रुपए डाले गए हैं। बचे हुए 14473 कामगारों को अभी भी आर्थिक सहायता नहीं मिली है। मंडल के नागपुर कार्यालय से पंजीकृत कामगारों का डाटा मंडल के मुंबई कार्यालय भेजा गया है। वहीं से कामगारों को निधि का वितरण हो रहा है।

सभी कामगारों को दिया जाए

कामगार नेता ज्ञानेश्वर गोले ने सभी कामगारों को 2-2 हजार की आर्थिक सहायता देने की मांग की है। किसी कारण कार्ड का नवीनीकरण नहीं करने वाले कामगारों को भी योजना का लाभ देने की मांग की है।
जिले में कुल 1 लाख 29 हजार कामगारों ने पंजीयन किया था। 65836 कामगारों ने कार्ड का नवीनीकरण नहीं किया, इसलिए उनके नाम सूची से कट गए। हर साल कार्ड का नवीनीकरण करना जरूरी है। 

अभी भी करा सकते हैं नवीनीकरण

राजदीप धुर्वे, सहायक आयुक्त, श्रम आयुक्तालय के मुताबिक 2014 से 31 मार्च 2020 तक जिले में 1 लाख 29 हजार कामगारों ने कामगार कल्याणकारी मंडल में पंजीयन किया था। हर साल कार्ड नवीनीकरण करना पड़ता है। कार्ड नवीनीकरण नहीं करने से अभी केवल 63164 पंजीकृत कामगार हैं। इन सभी को 2-2 हजार की आर्थिक सहायता मिलेगी। 48691 कामगारों को आर्थिक सहायता मिली आैर बचे हुए 14473 कामगारों को निधि देने की प्रक्रिया जारी है। 90 दिन काम करने का प्रमाणपत्र लाकर कार्ड का नवीनीकरण किया जा सकता है। अभी कार्ड नवीनीकरण करनेवाले कामगारों को 2-2 हजार की आर्थिक सहायता का लाभ नहीं मिलेगा। 
 

खबरें और भी हैं...