दैनिक भास्कर हिंदी: 195 विधायक कर रहे हैं विरोध , फिर भी बुलेट ट्रेन पर 250 करोड़ रुपए खर्च- अजित पवार ने गिनाई खामियां

July 10th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। अजित पवार ने कहा कि बुलेट ट्रेन का 200 में से 195  विधायक विरोध कर रहे हैं। फिर भी राज्य सरकार बुलेट ट्रेन के लिए 250 करोड़ रुपए खर्च करने जा रही है। बुलेट ट्रेन का विरोध शिवसेना ने भी करना चाहिए। वैधानिक विकास मंडल के लिए कोई निधि नहीं दी जा रही है। शिक्षक भर्ती नहीं हो रही है। 15400 शिक्षक पद रिक्त हैं। सड़क निर्माण की लागत 5 गुना बढ़ा दी गई है। रेत व खनिज माफिया सक्रिय हैं।

भाजपा विधायक बंटी भांगडिया को रेत माफिया से धमकी मिलती है। ऊर्जामंत्री चंद्रशेखर बावनकुले पर आरोप है कि अवैध रेत ढुलाई कर रहे ट्रक को छोड़ने के लिए वे फोन पर निर्देश देते हैं। बकायदा जिला प्रशासन की बैठक के मिनट्स में यह उल्लेख है। राज्य में एक तहसीलदार के वाहन चालक की हत्या कर दी गई। एनपीडीए लागू करने के बाद भी बदमाश रेत माफिया का असर कम नहीं हुआ है।

लंबे समय बाद दिखे छगन भुजबल का पार्टी विधायकों व पदाधिकारियों ने गर्मजोशी से स्वागत किया। खाद्यान्न आपूर्ति मंत्री गिरीश बापट ने विधान भवन की सीढ़ी पर भुजबल से हाथ मिलाकर हाल-चाल पूछा। जेल में ही तबीयत खराब होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था। भुजबल फिलहाल जमानत पर छूटे हैं। जेल में रहने से वे शीत सत्र, मानसून सत्र व बजट सत्र में हिस्सा नहीं ले सके थे। भुजबल जब नागपुर पहुंचे तो हवाईअड्डे पर पार्टी पदाधिकारियों ने जोरदार स्वागत किया था। मानसून सत्र में हिस्सा लेने के लिए वे विधान भवन परिसर पहुंचे।

परिसर में पार्टी विधायकों के अलावा अन्य पार्टी के विधायकों ने उनसे हाथ मिलाकर अनौपचारिक चर्चा की। विधायक धनंजय मुंडे, विधायक राजेश टोपे, विधायक प्रकाश गजभिए ने उनका स्वागत किया। उन्हें साथ लेकर विधान भवन की सीढ़ी तक पहुंचे। यहां पार्टी के अन्य विधायकों ने भी सामने आकर गर्मजोशी से उनका स्वागत किया। विधान भवन के भीतर जाने के बाद भी भुजबल की चर्चा दिन भर परिसर में होती रही।