दैनिक भास्कर हिंदी: इस साल 2 लाख मुसलमान जाएंगे हज यात्रा पर - नकवी

June 9th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देश से इस बार रिकॉड 2 लाख भारतीय मुसलमान बिना किसी सब्सिडी हज यात्रा पर जाएंगे। हज यात्रा पर जाने वालों लोगों में लगभग 48 प्रतिशत महिलाएं हैं। इस साल बिना मेहरम (पुरुष रिश्तेदार) के हज यात्रा पर 2340 महिलाएं जाएंगी। रविवार को केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने यह जानकारी दी। नकवी ने मुंबई के हज हाउस में निजी टूर ऑपरटरों (पीटीओ) के प्रतिनिधियों को संबोधित किया। नकवी ने बताया कि देश भर के 21 हवाई अड्डों से 500 से ज्यादा जहाजों के जरिए हज यात्री हज के लिए जाएंगे। नकवी ने कहा कि सऊदी अरब ने भारत का हज कोटा 2 लाख किया है। इसका परिणाम यह हुआ है कि आजादी के बाद पहली बार उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, बिहार सहित देश के बड़े राज्यों से सभी हज आवेदकों को हज पर जाने की सुविधा मिल सकी है।

2340 महिलाएं बिना मेहरम के जाएंगी हज पर 

नकवी ने बताया कि 1 लाख 40 हजार हज यात्री हज कमिटी ऑफ इंडिया और 60 हजार हज यात्री प्राइवेट टूर ऑपरेटरों के माध्यम से हज पर जाएंगे। प्राइवेट टूर ऑपरेटरों को भी 10 हजार हज यात्रियों को हज कमिटी ऑफ इंडिया द्वारा निश्चित पैकेज पर ही ले जाना होगा। इस बार 725 प्राइवेट टूर ऑपरेटर हज यात्रियों को हज के लिए लेकर जाएंगे। नकवी ने कहा कि हज यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा सरकार की प्राथमिकता है। इसमें कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। नकवी ने कहा कि अधिकांश प्राइवेट टूर ऑपरेटर अच्छा काम कर रहे हैं। लेकिन अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय को कुछ प्राइवेट टूर ऑपरेटरों के खिलाफ गंभीर शिकायतें मिलने के बाद उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई। इस साल 3 पीटीओ को गंभीर शिकायतों के बाद ब्लैकलिस्ट किया गया है।

हज जाने वालों में 48 प्रतिशत महिलाएं शामिल

पिछले साल भी कई प्राइवेट टूर ऑपरेटरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई थी। नकवी ने बताया कि हज के लिए पहले चरण में 4 जुलाई से विमान सेवा शुरू हो जाएगी। 4 जुलाई से दिल्ली, गया, गुवाहाटी और श्रीनगर से हज यात्री रवाना होंगे। 7 जुलाई से बेंगलुरु और कालीकट, 13 जुलाई से गोवा, 14 जुलाई से कोचीन, 17 जुलाई से मंगलोर और 21 जुलाई से श्रीनगर हज यात्री रवाना होंगे। मुंबई में 14 और 21 जुलाई से यात्री हज के लिए जाना शुरू करेंगे। दूसरे चरण में 20 जुलाई से अहमदाबाद, कोलकाता और लखनऊ, 21 जुलाई से भोपाल और  रांची, 22 जुलाई से औरंगाबाद, 25 जुलाई से नागपुर और जयपुर, 26 जुलाई को हैदराबाद, 29 जुलाई से वाराणसी और 31 जुलाई से चेन्नई से हज के लिए विमान सेवा शुरू होगी। नकवी ने बताया कि हज यात्रियों की मेडिकल सुविधा के लिए मक्का में 11 और मदीना में 3 हेल्थ सेंटर की सुविधा की गई है।

 22 जुलाई को औरंगाबाद और 25 जुलाई को नागपुर से शुरू होगी विमान सेवा 

इसके अतिरिक्त मक्का में 3 और मदीना में 1 अस्पताल की व्यवस्था होगी। इसके अलावा 620 हज कोर्डिनेटर, असिस्टेंट हज अफसर, हज असिस्टेंट और डॉक्टर की नियुक्ति की गई है। इस सेवा में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हैं। नकवी ने कहा कि सरकार ने हज की संपूर्ण प्रक्रिया को शत प्रतिशत ऑनलाइन की है। इस कारण पारदर्शिता के साथ में हज यात्रा सस्ती हुई है। देश से हज पर जाने वाले लोगों को सहूलियत हुई है। नकवी ने बताया कि इस बार पारदर्शिता और हज यात्रियों की सहूलियत के लिए प्राइवेट टूर ऑपरेटरों का भी पोर्टल बनाया गया है। इसमें सभी अधिकृत पीटीओ के पैकेज समेत अन्य जानकारी दी गई है।