• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • 20. 50 lakh cheated on the pretext of getting a job in Railways with the son of a retired employee

धोखाधड़ी: सेवानिवृत्त कर्मचारी के बेटे के साथ रेलवे में नौकरी दिलाने के बहाने 20. 50 लाख रुपए की ठगी

March 1st, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर. सेवानिवृत्त कर्मचारी का उच्च शिक्षित पुत्र रेलवे में नौकरी पाने के चक्कर में करीब 20 लाख 50 हजार रुपए गंवा बैठा। पीड़ित उदय हरिभाऊ उमरकर (34) की शिकायत पर अजनी पुलिस ने आरोपी राजेंद्र प्रसाद तिवारी (60) क्वार्टर नं. बी 5/1, अजनी रेलवे स्टेशन के पास और रशीद आलम कोलकाता निवासी पर धारा 420, 406 और 34 के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, उदय हरिभाऊ उमरकर (क्वाटर्स नं. 6/4 एलआईजी काॅलोनी, नागपुर) ने आरोपी  राजेन्द्र प्रसाद तिवारी और उसके दोस्त रशीद आलम के खिलाफ अजनी थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है। उदय ने पुलिस को बताया कि वह उच्च शिक्षित है। करीब 4 वर्ष पहले उसके परिचित के ड्राइवर ने आरोपी राजेंद्र तिवारी से मुलाकात कराई। राजेंद्र तिवारी ने उदय की पहचान अपने मित्र रशीद आलम से कराया। आरोपी राजेंद्र और रशीद आलम ने उदय को सेंट्रल रेलवे में नौकरी दिलाने का लालच दिया। आरोपियों की बातों में उदय उलझ गया। आरोपियों ने 11 नवंबर 2018 से 7 मार्च 2020 के दरमियान उदय से करीब 20 लाख 50 हजार रुपए ले लिया। उदय ने आरोपियों को नकदी, अकाउंट ट्रांसफर, गूगल पे और चेक माध्यम से उक्त रकम दिया। रकम देने के बाद भी नौकरी नहीं लगी, तो उदय ने अपने पैसे वापस मांगे। इस पर आरोपी टालमटोल करने लगे। अंत में उदय ने अजनी थाने में शिकायत की। करीब दो वर्ष बाद पुलिस ने मामले की छानबीन कर उक्त दोनों आरोपियों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। फरार आरोपियों की तलाश में पुलिस : पुलिस इस प्रकरण में फरार आरोपी राजेंद्र तिवारी और रशीद आलम की तलाश कर रही है। इस प्रकरण में उदय के परिचित के ड्राइवर की भूमिका की भी जांच की जाएगी। आरोपी राजेंद्र और रशीद की एक दूसरे से जान-पहचान कैसे हुई। इस दिशा में भी पुलिस की जांच शुरू है।