comScore

महिला के अंतिम संस्कार शामिल हुए 200 लोग, बाद में पता चला थी कोरोना संक्रमित

महिला के अंतिम संस्कार शामिल हुए 200 लोग, बाद में पता चला थी कोरोना संक्रमित

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना संक्रमण को लेकर मुंबई के सरकारी कूपर अस्पताल द्वारा लापरवाही का एक बड़ा मामला सामने आया है। 20 जुलाई को कांदिवली में रहने वाली एक गर्भवती महिला की मौत के बाद उसका शव परिजनों को सौंप दिया गया। महिला के अंतिम संस्कार में करीब 200 लोगों ने हिस्सा लिया। सारे क्रियाकर्म धार्मिक विधि-विधान से किए गए लेकिन अब 4 दिनों बाद मुंबई महानगर पालिका ने परिवार को बताया है कि महिला कोरोना संक्रमित थी।

जानकारी मिलने के बाद महिला के परिवार के साथ आसपास रहने वालों और अंतिम संस्कार में शामिल लोगों में हड़कंप मच गया है। सवाल उठाए जा रहे हैं कि शव परिजनों को सौंपने से पहले कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट का इंतजार क्यों नहीं किया गया। जबकि महिला में कोरोना संक्रमण के लक्षण साफ नजर आ रहे थे। अंतिम संस्कार के लिए ले जाने से पहले महिला का शव सोसाइटी परिसर में रखा था अब वहां के लोग भी डरे हुए हैं। कांदिवली के लालजीपाडा इलाके में रहने वाले महिला के ससुर के मुताबिक महिला के अंतिम दर्शन करने सोसाइटी के लोगों के साथ कई रिश्तेदार आए थे।

इनमे से कई लोगों ने शव को कंधा भी दिया। अब चार दिन बाद कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट पॉजिटिव आने की खबर दी जा रही है। अगर अंतिम संस्कार में शामिल लोगों में से किसी को संक्रमण हुआ तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। हमने शव जल्द सौपने की मांग नही की थी। रिपोर्ट नहीं आई थी तो हम इंतजार कर लेते। वहीं मुंबई महानगर पालिका के स्वास्थ्य अधिकारी संदीप बनसोडे के मुताबिक कोरोना संक्रमण से जुड़ी रिपोर्ट शुक्रवार को मिली जिसके बाद महिला के परिवार वालों को इसकी जानकारी दी गई।  

कमेंट करें
8unZo