दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर में 29 पॉजिटिव, क्वारेंटाइन सेंटर में 14 दिन ही रहना होगा

June 19th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोरोना संक्रमण शहर के नए-नए इलाकों में फैल रहा है। शुक्रवार को वायुसेना नगर के चाप मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। नीरी के लैब में जांच के लिए पहुंचे 78 सैंपल में चार पॉजिटिव आए हैं। चारों सैंपल वायुसेना नगर के मरीजों के हैं। शुक्रवार को 29 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके साथ ही नागपुर में कोरोना मरीजों की संख्या 1171 हो गई है। शुक्रवार को पॉजिटिव आए 29 सैंपल में दस की एम्स, नौ की मेयो, चार की नीरी,  एक की मेडिकल और पांच की निजी लैब मंे जांच हुई है। एक सैंपल गुरुवार देर रात निजी लैब में पॉजिटिव आया था।

मेयो में नौ

चार संदिग्ध (एक बजिरया स्थित संतरा मार्केट, एक नाईक तालाब बांग्लादेश, एक हंसापुरी और एक लष्करीबाग),  दो सिम्बॉयसिस में क्वारंटाइन, तीन हिंगणा स्थित शिक्षक कालोनी

मेडिकल में एक

झिंगाबाई टाकली स्थित भारत अपार्टमेंट

नीरी में चार

चारों वायुसेना नगर

निजी लैब-पांच

तीन प्रीतमविहार कालोनी, ऑटोमोटिव चौक, दो त्रिमुर्तिनगर

एम्स-दस

52 डिस्चार्ज

शुक्रवार को 52 मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं। इनमें 29 मेयाे से 13 मेडिकल से और दस मरीज एम्स डिस्चार्ज हुए हैं। डिस्चार्ज मरीजों में 20 नाईकतालाब बांग्लादेश के हैं।

क्वारेंटाइन सेंटर में 14 दिन ही रहना होगा

कोरोना पॉजिटिव मरीज को अस्पताल में रखने की समयावधि भले ही कम हुई है, लेकिन क्वारेंटाइन सेंटर में अभी भी संदिग्धों को 14 दिन तक ही रहना है। फिलहाल क्वारेंटाइन सेंटरों में 2500 कोरोना संदिग्धों को रखा गया है। कोरोना संदिग्धों की क्वारेंटाइन सेंटर में दो टेस्ट की जाती है। पहला टेस्ट निगेटिव आने के बाद दूसरा टेस्ट किया जाती है। यह टेस्ट भी निगेटिव आने पर घर भेज दिया जाता है। दो टेस्ट करने व रिपोर्ट आने में 14 दिन का समय लगता है। अगर टेस्ट पाजिटिव आया, तो सीधे अस्पताल में भेज दिया जाता है। अस्पताल में फिर एक टेस्ट होता है और 10 दिन तक रखने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी जाती है। अस्पताल में पहले 15 दिन तक रखा जाता था।

क्वारेंटाइन सेंटर

कोरोना संदिग्धों को विधायक निवास, वनामति, रवि भवन, लॉ कॉलेज होस्टल, सिम्बॉयसिस, पांचपावली, वीएनआईटी के अलावा 3 होटलों में क्वारेेंटाइन किया जाता है

हमें नई गाइडलाइन नहीं मिली

शेखर घाडगे, उपविभागीय अधिकारी के मुताबिक दो टेस्ट होते हैं और इसमें 14 दिन तक का समय लगता है। जो गाइडलाइन मिली है, उसके मुताबिक ही काम हो रहा है। समयावधि कम होनेसंबंधी नई गाइडलाइन हमें नहीं मिली है। अभी क्वारेंटाइन सेंटरों में 2500 कोरोना संदिग्धों को रखा गया है।

खबरें और भी हैं...