दैनिक भास्कर हिंदी: रतनजोत के बीज खाकर 26 छात्र बीमार, मेडिकल हॉस्पिटल में एडमिट

November 13th, 2017

डिजिटल डेस्क, चंद्रपुर। नागभीड़ तहसील के कोर्धा गांव में रतनजोत के बीज खाने से 26 बच्चे बीमार हो गए। जिन्हें पेट दर्द और उल्टी-दस्त की शिकायत के बाद पांडव के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। लेकिन वहां से डॉ. पटले ने उनकी जांच करने के बाद नागभीड़ के ग्रामीण अस्पताल भेज दिया। बच्चों को प्राथमिक उपचार देने के बाद गंभीर हालत में नागपुर रैफर कर दिया गया। जहां मेडिकल में उनका इलाज जारी है। डॉक्टरों के मुताबिक बच्चों की हालत गंभीर है। उनका इलाज शुरु कर दिया गया है।

रतनजोत के बीज खाकर हुए बीमार

बताया जा रहा है कि कोर्धा के सरकारी स्कूल में पहली से सातवीं तक कक्षा लगती हैं। स्कूल की कुछ ही दूरी पर श्मशान भूमि में रतनजोत के पेड़ लगे हैं। सोमवार दोपहर में छुट्टी के बाद दो छात्र वहां पहुंचे। इसी दौरान उन्होंने रतनजोत के बीज खा लिए। इसके बाद उन्होंने दूसरे छात्रों को भी बीज खिलाए। जिसका स्वाद काजू जैसा लगता है, लेकिन ये जहरीले होते हैं। इस से अनजान छात्रों ने बीज खा लिए। थोड़ी देर बाद उनकी हालत बिगडऩे लगी। 

नागपुर में जारी इलाज

बच्चों की हालत खराब होते देख शिक्षक और गांववाले पहले उन्हें पांडव के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर गए। जहां उनकी जांच की गई। इसके बाद उन्हें नागभीड़ के ग्रामीण अस्पताल भेजा गया। लेकिन ग्रामीण अस्पताल में छात्रों की हालत बिगड़ने लगी, इसके बाद उन्हें नागपुर रैफर किया गया। पीड़ित छात्रों में कक्षा दूसरी का 1, कक्षा तीसरी के 2, कक्षा चौथी के 8, कक्षा पांचवीं के 5, कक्षा छठवीं के 5 और कक्षा सातवीं के 5 छात्र शामिल हैं।