वाशिम: आंगनवाड़ी सेविकाओं का 3 दिवसीय प्रभावी पोषण शिक्षा प्रशिक्षण सोत्साह

July 25th, 2022

डिजिटल डेस्क, वाशिम। पोषण प्रकल्पांतर्गत जीआयझेड, डब्लूएचएच व स्वयम शिक्षण प्रयोग संस्था वाशिम तथा एकात्मिक बालविकास प्रकल्प के संयुक्त तत्वावधान मंे स्थानीय पंचायत समिति सभागृह में वाशिम ग्रामीण की आंगनवाड़ी सेविकाें का तीन दिवसीय प्रशिक्षण 21 से 23 जुलाई के बीच सम्पन्न हुआ । प्रशिक्षण में जिला महिला व बालविकास प्रकल्प अधिकारी प्रियंका गवली, विस्तार अधिकारी हातेकर, अडोली और काटा बीट की पर्यवेक्षिका वानखडे, स्वयम शिक्षा प्रयोग संस्था के प्रकल्प व्यवस्थापक उत्तम पाटोले, प्रशिक्षण प्रमुख अनिता पाईकराव, दिलीप कुंडगीर, शेख शबनम, क्षेत्र अधिकारी पूजा गोरे, स्वाति वानखडे व विना जांभरुणकर उपस्थित थे ।

प्रशिक्षण के पहले दिन वाशिम ग्रामीण बालविकास प्रकल्प अधिकारी प्रियंका गवली के हाथों दीपप्रज्वलन किया गया । स्वयम शिक्षण प्रयोग संस्था की प्रशिक्षण प्रमुख अनिता पाईकराव ने प्रस्ताविक में संस्था के कार्य और प्रभावी पोषण प्रशिक्षण की जानकारी दी । स्वयंम शिक्षण संस्था वर्ष 1993 से भारत के 7 राज्य, महाराष्ट्र के 8 जिलों और 2 हज़ार से अधिक गांवों मंे शाश्वत खेति, जल, स्वच्छता, स्वास्थ और पोषण आदि विविध प्रकल्पाें द्वारा महिलाओं के सहभाग से उपक्रम चला रही है । प्रशिक्षण में दुर्बल घटक के 15 से 49 आयुवर्ग के किशोर और व्यक्ति, प्रजननक्षम गर्भवति तथा स्तनदा माता के साथही 6 से 23 माह आयुवर्ग के बालकों का पोषाहार, स्वास्थ्य स्थिति में सुधार के साथही पोषण, परसबाग निर्मिति व अन्य महत्वपूर्ण जानकारी दी गई ।

इसके अलावा सहभागी पोषण शिक्षा पद्धति एनपीएलए के माध्यम से ली जानेवाली 20 बैठकाें में से प्रथम 7 बैठकों से जुड़े उद्देशाें के अनुरुप प्रशिक्षण के दौरान दूसरे और तीसरे दिन विविध खेलों जैसे एकता का बल, काठियों का खेल, कदमों का खेल, सुपोषण सेतू, गांव नक्शा, गीत गायन, समस्या चित्रण, नाटक, संकल्पित सूपोषित गांव आदि कृति की सहायता से क्षमता निर्माण कर उसकी जानकारी दी गई । जिले की संपूर्ण तहसीलों की आंगनवाड़ी सेविकाओं के लिए आयोजित 3 दिवसीय प्रभावी पोषण शिक्षा प्रशिक्षण में काटा और अडोली बीट की 57 आंगनवाड़ी सेविकाओं ने हिस्सा लिया । प्रशिक्षण का प्रस्ताविक अनिता पाईकराव, सूत्रसंचालन पूजा गोरे ने तो आभार प्रदर्शन विना जांभरुणकर ने किया ।