दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर शहर में 33,925 अवैध नल कनेक्शन, 20 मई से मनपा छेड़ेगी विरोध में अभियान

May 15th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में वर्षों से चल रहे अवैध नल कनेक्शन को लेकर मनपा अब नींद से जागी है। जलसंकट गहराने के बाद मनपा ने अवैध नल कनेक्शन के खिलाफ मुहिम शुरू करने का निर्णय लिया है। इस दौरान शहर में 33 हजार 925 अवैध नल कनेक्शन होने का खुलासा हुआ है। 20 मई से शहर में अवैध नल कनेक्शन को नियमित करने की मुहिम शुरू करने का निर्णय लिया गया है। जो कोई अपना अवैध कनेक्शन, नियमित नहीं कराएगा उसके खिलाफ पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करने की भी चेतावनी दी गई है। 

मनपा ने ली आपातकालीन बैठक
शहर में पानी की भीषण समस्या को लेकर महापौर कक्ष में महापौर नंदा जिचकार की अध्यक्षता में आपातकालीन बैठक की गई। बैठक में अवैध नल कनेक्शन को नियमित करने के लिए 20 मई से विशेष मुहिम शुरू करने का निर्णय लिया गया। इसके लिए दस्तावेजों के नियम में शिथिलता लाने की भी जानकारी दी गई। अधिकारियों ने बताया कि शहर में 33 हजार से अधिक अनियमित नल कनेक्शन है। दस्तावेजों की शर्तों के कारण उसे नियमित करने में दिक्कतें आ रही है। महापौर जिचकार ने कहा कि इसका हल खोजना जरूरी है। नागरिकों को सिर्फ एक शपथपत्र मनपा को देना होगा। इसके साथ आधार कार्ड के अलावा इलेक्ट्रिक बिल, मतदाता पहचान पत्र या टैक्स रसीद में से कोई एक दस्तावेज देना होगा।

सभी जोन में घूमेगी मनपा की टीम
महापौर जिचकार व आयुक्त अभिजीत बांगर ने नागरिकों से अपने अनियमित नल कनेक्शन नियमित करने का आह्वान करते हुए कहा कि मनपा की टीम सभी 10 जोन में घूमकर नागरिकों तक पहुंचेगी। इसके बाद भी कोई कनेक्शन अवैध मिलता है तो उसके खिलाफ पुलिस में शिकायत की जाएगी। बैठक में उपमहापौर दीपराज पार्डीकर, स्थायी समिति सभापति प्रदीप पोहाणे, विरोधी पक्षनेता तानाजी वनवे, आयुक्त अभिजीत बांगर, जलप्रदाय समिति के सभापति पिंटू झलके, अतिरिक्त आयुक्त राम जोशी, जलप्रदाय विभाग के कार्यकारी अभियंता श्वेता बैनर्जी, कार्यकारी अभियंता मिलिंद गणवीर, नगरसेवक भगवान मेंढे, ओसीडब्ल्यू के सीईओ संजय रॉय, एच.आर. व्यवस्थापक के.एम.पी. सिंह, व्यवस्थापक कालरा, प्रवीण सरण उपस्थित थे।