दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर में मनपा की 51 स्कूलें बंद, सबसे ज्यादा मराठी स्कूलों पर आफत

December 31st, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। विद्यार्थियों और अन्य सुविधाओं से जूझ रहे मनपा के शिक्षा विभाग ने मनपा संचालति 51 स्कूलों को बंद कर दिया। इसमें सबसे ज्यादा आफत मराठी स्कूलों पर आई है। मराठी की कुल 35 स्कूलें बंद हो गई हैं। बच्चों को मराठी माध्यम से पढ़ाने की अभिभावकों की मानसिकता नहीं है और इसका असर मराठी की बंद हो रही स्कूलों के रूप में देखा जा सकता है। समाजसेवी दीपक साने को आरटीआई में मिली जानकारी के अनुसार शहर में मनपा संचालित 210 स्कूलें है। इन स्कूलों में मराठी, हिंदी, उर्दू व अंग्रेजी माध्यम की स्कूलें शामिल है। विद्यार्थियों की कमी, इमारत व अन्य सुविधाओं की कमी के कारण मनपा को 51 स्कूलें बंद करनी पड़ी। मनपा की अभी केवल 159 स्कूलें ही चल रही है। पहली से बारहवीं कक्षा तक की इन स्कूलों में अभी 18486 विद्यार्थी पढ़ रहे हैं।

बंद स्कूलों में 
मराठी माध्यम की  35
हिंदी माध्यम की    12
उर्दू माध्यम की      04

कुल                  51 

कक्षा 1 से 5 वीं तक की    59
कक्षा 1 से 8 वीं तक की    71
कक्षा 5 से 10 वीं तक की  25
कक्षा 5 से 12 वीं तक की  04

कुल                          159

स्कूलों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत 

समाजसेवी दीपक साने के मुताबिक मनपा में पढ़ने वाले बच्चों की संख्या लगातार कम होना और स्कूलों का बंद होना बेहद चिंतनीय है। मनपा ने स्कूलों की अवस्था व माहौल सुधारने के लिए पुख्ता कदम उठाने चाहिए। यहीं हाल रहा तो मनपा की और भी स्कूलें बंद करने की नौबत आ सकती है। मनपा पदाधिकारी व अधिकारियों ने मनपा की स्कूलों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है, ताकि यहां ज्यादा से ज्यादा बच्चे पढ़ने के लिए आ सके।