comScore

चक्रवाती तूफान प्रभावित रत्नागिरी को 75 करोड़ और सिंधुदुर्ग को 25 करोड़ रुपए तत्काल मिलेंगे- सीएम उद्धव

चक्रवाती तूफान प्रभावित रत्नागिरी को 75 करोड़ और सिंधुदुर्ग को 25 करोड़ रुपए तत्काल मिलेंगे- सीएम उद्धव

डिजिटल डेस्क, मुंबई। राज्य सरकार की ओर से चक्रवाती तूफान निसर्ग से प्रभावित रत्नागिरी जिले के लिए 75 करोड़ रुपए और सिंधुदुर्ग जिले को 25 करोड़ रुपए तत्काल दिए जाएंगे। रविवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दोनों जिलों के लिए मदद राशि की घोषणा की। उन्होंने कहा कि यह पैकेज नहीं तत्काल मदद है। मुख्यमंत्री ने चक्रवात प्रभावित रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, ठाणे और पालघर जिले की स्थिति की समीक्षा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राकृतिक आपदा में नुकसान भरपाई का पुराने मापदंड को बदलने की जरूरत है। उन्होंने प्रशासन को संशोधित नए मापदंड तैयार करके जल्द जानकारी देने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि ठाणे और पालघर जिले में तुलना में कम नुकसान हुआ है पर दोनों जिलों की समीक्षा के बाद मदद का फैसला लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मदद कार्य करते समय प्राथमिकता तय किया जाए। लोगों के विश्वास में लेकर मदद काम पूरा होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोंकण में भूमिगत बिजली के तार बिछाने पर विचार किया जाए। इससे पहले मुख्यमंत्री ने रायगड जिले के लिए 100 करोड़ रुपए की घोषणा की थी। 

सिंधुदुर्ग के पालकमंत्री उदय सामंत ने कहा कि रायगड की तुलना में सिंधुदुर्ग का नुकसान कम हुआ, लेकिन सिंधुदुर्ग को कम से कम 25 से 30 करोड़ रुपए मदद की जरूरत है। रत्नागिरी के पालकमंत्री अनिल परब ने कहा कि जिले के मंडणगड, दापोली में सबसे अधिक नुकसान हुआ है। वहीं नगर विकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि चक्रवात से ज्यादा नुकसान होने के कारण नागरिक प्रति परिवार नकद मदद राशि देने की मांग कर रहे हैं। पालघर के पालक मंत्री दादाजी भुसे ने जिले में हुए नुकसान की जानकारी दी। इस बैठक में आम के बाग, सुपारी, नारियल के पेड़ के हुए नुकसान पर चर्चा हुई। 

नुकसान भरपाई की अग्रिम राशि दी जाएगी- मेहता

मुख्य सचिव अजोय मेहता ने कहा कि चक्रवाती तूफान से हुए नुकसान का पंचनामा जल्द पूरा करने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा कि नुकसान भरपाई की अग्रिम राशि जिलाधिकारियों को दी जाएगी। इससे आपदा प्रभावित नागरिकों को थोड़ी राहत मिल सकेगी। 
 

कमेंट करें
sIYLl